Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Jun 2023 · 1 min read

तेरी मुहब्बत से, अपना अन्तर्मन रच दूं।

मेरी कलम से…
आनन्द कुमार

लिख दूं,
क्या लिख दूं।
सोच रहा हूं,
शब्द-शब्द सब,
तुझ पर लूटा दूं।
क्यों इतना,
हसीन है तू,
दिल के नजदीक,
मन के करीब है तू।
आखिर क्या है,
तेरे रोम-रोम में,
जो तूझे चूमने को,
जी चाहता है।
मेंहदी क्या होगी,
हाथों में,
सोचता हूं,
तेरी मुहब्बत से,
अपना अन्तर्मन
रच दूं।

85 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मुख्तलिफ होते हैं ज़माने में किरदार सभी।
मुख्तलिफ होते हैं ज़माने में किरदार सभी।
Phool gufran
सब कुछ दुनिया का दुनिया में,     जाना सबको छोड़।
सब कुछ दुनिया का दुनिया में, जाना सबको छोड़।
डॉ.सीमा अग्रवाल
बड़ा हीं खूबसूरत ज़िंदगी का फलसफ़ा रखिए
बड़ा हीं खूबसूरत ज़िंदगी का फलसफ़ा रखिए
Shweta Soni
पनघट और पगडंडी
पनघट और पगडंडी
Punam Pande
" मेरा रत्न "
Dr Meenu Poonia
शासन हो तो ऐसा
शासन हो तो ऐसा
जय लगन कुमार हैप्पी
*रामपुर रजा लाइब्रेरी में सुरेंद्र मोहन मिश्र पुरातात्विक संग्रह : एक अवलोकन*
*रामपुर रजा लाइब्रेरी में सुरेंद्र मोहन मिश्र पुरातात्विक संग्रह : एक अवलोकन*
Ravi Prakash
सुख दुख
सुख दुख
Sûrëkhâ Rãthí
गज़ल
गज़ल
सत्य कुमार प्रेमी
कोरे कागज़ पर
कोरे कागज़ पर
हिमांशु Kulshrestha
#justareminderekabodhbalak #drarunkumarshastriblogger
#justareminderekabodhbalak #drarunkumarshastriblogger
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ख़ून इंसानियत का
ख़ून इंसानियत का
Dr fauzia Naseem shad
"पनाहों में"
Dr. Kishan tandon kranti
कविता
कविता
Rambali Mishra
माना के गुनाहगार बहुत हू
माना के गुनाहगार बहुत हू
shabina. Naaz
अपने ज्ञान को दबा कर पैसा कमाना नौकरी कहलाता है!
अपने ज्ञान को दबा कर पैसा कमाना नौकरी कहलाता है!
Suraj kushwaha
दादा का लगाया नींबू पेड़ / Musafir Baitha
दादा का लगाया नींबू पेड़ / Musafir Baitha
Dr MusafiR BaithA
कर्म का फल
कर्म का फल
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
પૃથ્વી
પૃથ્વી
Otteri Selvakumar
// जनक छन्द //
// जनक छन्द //
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
रेलयात्रा- एक यादगार सफ़र
रेलयात्रा- एक यादगार सफ़र
Mukesh Kumar Sonkar
हर महीने में कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मासिक शिवरात्रि
हर महीने में कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मासिक शिवरात्रि
Shashi kala vyas
ग़ज़ल सगीर
ग़ज़ल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
23/100.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/100.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
चेहरे का रंग देख के रिश्ते नही बनाने चाहिए साहब l
चेहरे का रंग देख के रिश्ते नही बनाने चाहिए साहब l
Ranjeet kumar patre
पग मेरे नित चलते जाते।
पग मेरे नित चलते जाते।
Anil Mishra Prahari
हथिनी की व्यथा
हथिनी की व्यथा
रोहताश वर्मा 'मुसाफिर'
खुश वही है , जो खुशियों को खुशी से देखा हो ।
खुश वही है , जो खुशियों को खुशी से देखा हो ।
Nishant prakhar
इस टूटे हुए दिल को जोड़ने की   कोशिश मत करना
इस टूटे हुए दिल को जोड़ने की कोशिश मत करना
Anand.sharma
मेरे चेहरे पर मुफलिसी का इस्तेहार लगा है,
मेरे चेहरे पर मुफलिसी का इस्तेहार लगा है,
Lokesh Singh
Loading...