Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Dec 2023 · 1 min read

तेरी जुल्फों के साये में भी अब राहत नहीं मिलती।

तेरी जुल्फों के साये में भी अब राहत नहीं मिलती।
तेरे रुकसार से अब यह निगाह भी नहीं हटती।
तेरी यादों की चाहत में गिरफ्तार हो गये ऐसे ।
के अब इश्क़ में तेरे ज़मानत भी नहीं मिलती ।
Phool gufran

100 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मैं तो हमेशा बस मुस्कुरा के चलता हूॅ॑
मैं तो हमेशा बस मुस्कुरा के चलता हूॅ॑
VINOD CHAUHAN
कुछ यादें जिन्हें हम भूला नहीं सकते,
कुछ यादें जिन्हें हम भूला नहीं सकते,
लक्ष्मी सिंह
गले की फांस
गले की फांस
Dr. Pradeep Kumar Sharma
भारत अपना देश
भारत अपना देश
प्रदीप कुमार गुप्ता
हार भी स्वीकार हो
हार भी स्वीकार हो
Dr fauzia Naseem shad
जागरूक हो हर इंसान
जागरूक हो हर इंसान
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
*राम-राम कहकर ही पूछा, सदा परस्पर हाल (मुक्तक)*
*राम-राम कहकर ही पूछा, सदा परस्पर हाल (मुक्तक)*
Ravi Prakash
"खरगोश"
Dr. Kishan tandon kranti
गुलदानों में आजकल,
गुलदानों में आजकल,
sushil sarna
ऐ ज़िन्दगी ..
ऐ ज़िन्दगी ..
Dr. Seema Varma
घर जला दिए किसी की बस्तियां जली
घर जला दिए किसी की बस्तियां जली
कृष्णकांत गुर्जर
Dil toot jaayein chalega
Dil toot jaayein chalega
Prathmesh Yelne
ਕਿਸਾਨੀ ਸੰਘਰਸ਼
ਕਿਸਾਨੀ ਸੰਘਰਸ਼
Surinder blackpen
कोई पढ़ ले न चेहरे की शिकन
कोई पढ़ ले न चेहरे की शिकन
Shweta Soni
उपेक्षित फूल
उपेक्षित फूल
SATPAL CHAUHAN
क्रिकेट वर्ल्ड कप 2023
क्रिकेट वर्ल्ड कप 2023
Sandeep Pande
'एक कप चाय' की कीमत
'एक कप चाय' की कीमत
Karishma Shah
इन फूलों से सीख ले मुस्कुराना
इन फूलों से सीख ले मुस्कुराना
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
मेरी जिंदगी सजा दे
मेरी जिंदगी सजा दे
Basant Bhagawan Roy
"अगर आपके पास भरपूर माल है
*Author प्रणय प्रभात*
सीप से मोती चाहिए तो
सीप से मोती चाहिए तो
Harminder Kaur
कभी मायूस मत होना दोस्तों,
कभी मायूस मत होना दोस्तों,
Ranjeet kumar patre
उम्मीदों का उगता सूरज बादलों में मौन खड़ा है |
उम्मीदों का उगता सूरज बादलों में मौन खड़ा है |
कवि दीपक बवेजा
ग़ज़ल
ग़ज़ल
प्रीतम श्रावस्तवी
आप, मैं और एक कप चाय।
आप, मैं और एक कप चाय।
Urmil Suman(श्री)
कल आंखों मे आशाओं का पानी लेकर सभी घर को लौटे है,
कल आंखों मे आशाओं का पानी लेकर सभी घर को लौटे है,
manjula chauhan
विश्व स्वास्थ्य दिवस पर....
विश्व स्वास्थ्य दिवस पर....
डॉ.सीमा अग्रवाल
दिल का दर्द आँख तक आते-आते नीर हो गया ।
दिल का दर्द आँख तक आते-आते नीर हो गया ।
Arvind trivedi
.......,,
.......,,
शेखर सिंह
जल से सीखें
जल से सीखें
Saraswati Bajpai
Loading...