Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Apr 2023 · 1 min read

तुम से सुबह, तुम से शाम,

तुम से सुबह, तुम से शाम,
तुम जो चाहो, वो ही काम,
मेरे लिये तुम्हारा घड़ी हो जाना।

@नील पदम्

5 Likes · 220 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
View all
You may also like:
* काव्य रचना *
* काव्य रचना *
surenderpal vaidya
चूहा और बिल्ली
चूहा और बिल्ली
Kanchan Khanna
कितनी हीं बार
कितनी हीं बार
Shweta Soni
"कौन हूँ मैं"
Dr. Kishan tandon kranti
पिता का पेंसन
पिता का पेंसन
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
मां को नहीं देखा
मां को नहीं देखा
Suryakant Dwivedi
विश्व तुम्हारे हाथों में,
विश्व तुम्हारे हाथों में,
कुंवर बहादुर सिंह
दोहा - शीत
दोहा - शीत
sushil sarna
आप और हम जीवन के सच .......…एक प्रयास
आप और हम जीवन के सच .......…एक प्रयास
Neeraj Agarwal
कुछ लोग हेलमेट उतारे बिना
कुछ लोग हेलमेट उतारे बिना
*Author प्रणय प्रभात*
व्यथा दिल की
व्यथा दिल की
Devesh Bharadwaj
2285.
2285.
Dr.Khedu Bharti
21)”होली पर्व”
21)”होली पर्व”
Sapna Arora
बलिदान
बलिदान
Shyam Sundar Subramanian
बेबसी!
बेबसी!
कविता झा ‘गीत’
बेरोज़गारी का प्रच्छन्न दैत्य
बेरोज़गारी का प्रच्छन्न दैत्य
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
मछली रानी
मछली रानी
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
*शुभ रात्रि हो सबकी*
*शुभ रात्रि हो सबकी*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
वो खुशनसीब थे
वो खुशनसीब थे
Dheerja Sharma
रूबरू।
रूबरू।
Taj Mohammad
*उसी को स्वर्ग कहते हैं, जहॉं पर प्यार होता है (मुक्तक )*
*उसी को स्वर्ग कहते हैं, जहॉं पर प्यार होता है (मुक्तक )*
Ravi Prakash
फकीरी
फकीरी
Sanjay ' शून्य'
न किसी से कुछ कहूँ
न किसी से कुछ कहूँ
ruby kumari
कॉफ़ी की महक
कॉफ़ी की महक
shabina. Naaz
मार मुदई के रे
मार मुदई के रे
जय लगन कुमार हैप्पी
कैसा होगा कंटेंट सिनेमा के दौर में मसाला फिल्मों का भविष्य?
कैसा होगा कंटेंट सिनेमा के दौर में मसाला फिल्मों का भविष्य?
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
बुजुर्ग ओनर किलिंग
बुजुर्ग ओनर किलिंग
Mr. Rajesh Lathwal Chirana
तू भूल जा उसको
तू भूल जा उसको
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
परिवार
परिवार
डॉ० रोहित कौशिक
ऐसे हैं हमारे राम
ऐसे हैं हमारे राम
Shekhar Chandra Mitra
Loading...