Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Nov 2016 · 1 min read

तुम्हारे वास्ते …..

तुम्हारे वास्ते फिर से नयी इक जिन्दगी होगी
तुम्हारी जिन्दगी से जिन्दगी भी जिन्दगी होगी
कितने हसीं होगें वे सफ़े मेरी जिन्दगी के भी
तुम्हारी दिल्लगी से पल्लवित ये जिन्दगी होगी
@आनंद ०४/११/२०१६
*******************************

Language: Hindi
313 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*अकड़ू-बकड़ू थे दो डाकू (बाल कविता )*
*अकड़ू-बकड़ू थे दो डाकू (बाल कविता )*
Ravi Prakash
इंसान भीतर से यदि रिक्त हो
इंसान भीतर से यदि रिक्त हो
ruby kumari
नज़र
नज़र
Dr. Akhilesh Baghel "Akhil"
चाँद सा मुखड़ा दिखाया कीजिए
चाँद सा मुखड़ा दिखाया कीजिए
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
बैर भाव के ताप में,जलते जो भी लोग।
बैर भाव के ताप में,जलते जो भी लोग।
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
लहरों ने टूटी कश्ती को कमतर समझ लिया
लहरों ने टूटी कश्ती को कमतर समझ लिया
अंसार एटवी
मैं राहुल गांधी बोल रहा हूं!
मैं राहुल गांधी बोल रहा हूं!
Shekhar Chandra Mitra
रै तमसा, तू कब बदलेगी…
रै तमसा, तू कब बदलेगी…
Anand Kumar
धूमिल होती पत्रकारिता
धूमिल होती पत्रकारिता
अरशद रसूल बदायूंनी
अपनी समस्या का समाधान_
अपनी समस्या का समाधान_
Rajesh vyas
आया बाढ नग पहाड़ पे🌷✍️
आया बाढ नग पहाड़ पे🌷✍️
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
2736. *पूर्णिका*
2736. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
सँविधान
सँविधान
Bodhisatva kastooriya
* तपन *
* तपन *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
अपने वजूद की
अपने वजूद की
Dr fauzia Naseem shad
हमारा प्रेम
हमारा प्रेम
अंजनीत निज्जर
न दिखावा खातिर
न दिखावा खातिर
Satish Srijan
सबसे नालायक बेटा
सबसे नालायक बेटा
आकांक्षा राय
शिक्षक
शिक्षक
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
हो मापनी, मफ़्हूम, रब्त तब कहो ग़ज़ल।
हो मापनी, मफ़्हूम, रब्त तब कहो ग़ज़ल।
सत्य कुमार प्रेमी
मुरली कि धुन
मुरली कि धुन
Anil chobisa
“निर्जीव हम बनल छी”
“निर्जीव हम बनल छी”
DrLakshman Jha Parimal
" मेरा राज मेरा भगवान है "
Dr Meenu Poonia
बता तुम ही सांवरिया मेरे,
बता तुम ही सांवरिया मेरे,
Radha jha
परमेश्वर का प्यार
परमेश्वर का प्यार
ओंकार मिश्र
गदा हनुमान जी की
गदा हनुमान जी की
AJAY AMITABH SUMAN
#मीडियाई_मखौल
#मीडियाई_मखौल
*Author प्रणय प्रभात*
जिसका प्रथम कर्तव्य है जनसेवा नाम है भुनेश्वर सिन्हा,युवा प्रेरणा स्त्रोत भुनेश्वर सिन्हा
जिसका प्रथम कर्तव्य है जनसेवा नाम है भुनेश्वर सिन्हा,युवा प्रेरणा स्त्रोत भुनेश्वर सिन्हा
Bramhastra sahityapedia
खारिज़ करने के तर्क / मुसाफ़िर बैठा
खारिज़ करने के तर्क / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
ताउम्र लाल रंग से वास्ता रहा मेरा
ताउम्र लाल रंग से वास्ता रहा मेरा
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
Loading...