Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#1 Trending Author
May 23, 2022 · 1 min read

तुमसे कोई शिकायत नही

तुम अकेले जिंदगी ही जियो,हमे कोई शिकायत नही।
हमे अपने से शिकायत है,तुमसे कोई शिकायत नही।।

जरूरत पड़ती है,हर इन्सान को हर इन्सान से।
हो सकता है अब तुम्हे,मेरी कोई जरूरत नही।।

बगावत तुमने ही की थी,मैने कभी भी नहीं की।
चलो छोड़ो इन बातो को,अब कोई शिकायत नही।।

मोहब्बत के लिए जरूरी नही किसी की इजाजत ले।
मोहब्बत को इजाजत लेनी पड़े फिर कोई मोहब्बत नही।।

लिखता है रस्तोगी सच्चाई हमेशा अपनी कलम से।
झूठ लिखने की मुझे भी कभी कोई आदत नही।।

आर के रस्तोगी गुरुग्राम

8 Likes · 8 Comments · 121 Views
You may also like:
*चाची जी श्रीमती लक्ष्मी देवी : स्मृति*
Ravi Prakash
बख्स मुझको रहमत वो अंदाज़ मिल जाए
VINOD KUMAR CHAUHAN
ऐ दिल सब्र कर।
Taj Mohammad
माहौल
AMRESH KUMAR VERMA
रिमोट :: वोट
DESH RAJ
किसान की आत्मकथा
"अशांत" शेखर
सार्थक शब्दों के निरर्थक अर्थ
Manisha Manjari
** भावप्रतिभाव **
Dr. Alpa H. Amin
पुस्तकें
डॉ. शिव लहरी
चमचागिरी
सूर्यकांत द्विवेदी
गम तेरे थे।
Taj Mohammad
अब तो दर्शन दे दो गिरधर...
Dr. Alpa H. Amin
पिता
Rajiv Vishal
निगाह-ए-यास कि तन्हाइयाँ लिए चलिए
शिवांश सिंघानिया
यह कौन सा विधान है
Vishnu Prasad 'panchotiya'
"शौर्य"
Lohit Tamta
तलाश
Dr. Rajeev Jain
मैं हो गई पराई.....
Dr. Alpa H. Amin
मुझे तुम्हारी जरूरत नही...
Sapna K S
घनाक्षरी छंद
शेख़ जाफ़र खान
जादूगर......
Vaishnavi Gupta
Where is Humanity
Dheerendra Panchal
बेपरवाह बचपन है।
Taj Mohammad
"विहग"
Ajit Kumar "Karn"
खुशियों की रंगोली
Saraswati Bajpai
महाभारत की नींव
ओनिका सेतिया 'अनु '
दोहावली-रूप का दंभ
asha0963
पिता
Ram Krishan Rastogi
*!* हट्टे - कट्टे चट्टे - बट्टे *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
हिम्मत न हारों
Anamika Singh
Loading...