Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 May 2024 · 1 min read

ताल-तलैया रिक्त हैं, जलद हीन आसमान,

ताल-तलैया रिक्त हैं, जलद हीन आसमान,
कण्ठ सुखते वनपांखी के, संकट में है प्राण!!

38 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
प्रेम
प्रेम
बिमल तिवारी “आत्मबोध”
ଅହଙ୍କାର
ଅହଙ୍କାର
Bidyadhar Mantry
2777. *पूर्णिका*
2777. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
गुरु अमरदास के रुमाल का कमाल
गुरु अमरदास के रुमाल का कमाल
कवि रमेशराज
अंतिम साँझ .....
अंतिम साँझ .....
sushil sarna
ये दूरियां सिर्फ मैंने कहाँ बनायी थी //
ये दूरियां सिर्फ मैंने कहाँ बनायी थी //
गुप्तरत्न
तुझसे परेशान हैं आज तुझको बसाने वाले
तुझसे परेशान हैं आज तुझको बसाने वाले
VINOD CHAUHAN
ना फूल मेरी क़ब्र पे
ना फूल मेरी क़ब्र पे
Shweta Soni
वो भी थी क्या मजे की ज़िंदगी, जो सफ़र में गुजर चले,
वो भी थी क्या मजे की ज़िंदगी, जो सफ़र में गुजर चले,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
माफ करना मैडम हमें,
माफ करना मैडम हमें,
Dr. Man Mohan Krishna
* गीत प्यारा गुनगुनायें *
* गीत प्यारा गुनगुनायें *
surenderpal vaidya
विषम परिस्थियां
विषम परिस्थियां
Dr fauzia Naseem shad
मैं ढूंढता हूं रातो - दिन कोई बशर मिले।
मैं ढूंढता हूं रातो - दिन कोई बशर मिले।
सत्य कुमार प्रेमी
" नारी का दुख भरा जीवन "
Surya Barman
तेरा फिक्र
तेरा फिक्र
Basant Bhagawan Roy
"क्या मझदार क्या किनारा"
Dr. Kishan tandon kranti
हमारी योग्यता पर सवाल क्यो १
हमारी योग्यता पर सवाल क्यो १
भरत कुमार सोलंकी
मज़दूर
मज़दूर
Neelam Sharma
मैं भी चापलूस बन गया (हास्य कविता)
मैं भी चापलूस बन गया (हास्य कविता)
Dr. Kishan Karigar
हाथ पसारने का दिन ना आए
हाथ पसारने का दिन ना आए
Paras Nath Jha
एक दिन सूखे पत्तों की मानिंद
एक दिन सूखे पत्तों की मानिंद
पूर्वार्थ
ग़ज़ल:- तेरे सम्मान की ख़ातिर ग़ज़ल कहना पड़ेगी अब...
ग़ज़ल:- तेरे सम्मान की ख़ातिर ग़ज़ल कहना पड़ेगी अब...
अरविन्द राजपूत 'कल्प'
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
नेपालीको गर्व(Pride of Nepal)
नेपालीको गर्व(Pride of Nepal)
Sidhartha Mishra
"प्यार में तेरे "
Pushpraj Anant
खुद से मिल
खुद से मिल
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
तुम किसी झील का मीठा पानी..(✍️kailash singh)
तुम किसी झील का मीठा पानी..(✍️kailash singh)
Kailash singh
सत्ता
सत्ता
DrLakshman Jha Parimal
!! प्रार्थना !!
!! प्रार्थना !!
Chunnu Lal Gupta
राना लिधौरी के बुंदेली दोहा
राना लिधौरी के बुंदेली दोहा
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
Loading...