Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Feb 2023 · 1 min read

तपन ऐसी रखो

तपन ऐसी रखो
कि बर्फ़ क्या पत्थर भी पिघले..!

रंजना वर्मा ‘रैन’

127 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
शायद आकर चले गए तुम
शायद आकर चले गए तुम
Ajay Kumar Vimal
वह एक वस्तु,
वह एक वस्तु,
Shweta Soni
एक नम्बर सबके फोन में ऐसा होता है
एक नम्बर सबके फोन में ऐसा होता है
Rekha khichi
दिल्ली चलअ
दिल्ली चलअ
Shekhar Chandra Mitra
ये पल आएंगे
ये पल आएंगे
Srishty Bansal
💐प्रेम कौतुक-265💐
💐प्रेम कौतुक-265💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
पिता
पिता
Swami Ganganiya
*सेवानिवृत्ति*
*सेवानिवृत्ति*
पंकज कुमार कर्ण
तुम्हारा प्यार अब मिलता नहीं है।
तुम्हारा प्यार अब मिलता नहीं है।
सत्य कुमार प्रेमी
* वक्त  ही वक्त  तन में रक्त था *
* वक्त ही वक्त तन में रक्त था *
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
यदि कोई सास हो ललिता पवार जैसी,
यदि कोई सास हो ललिता पवार जैसी,
ओनिका सेतिया 'अनु '
समय के खेल में
समय के खेल में
Dr. Mulla Adam Ali
किया है यूँ तो ज़माने ने एहतिराज़ बहुत
किया है यूँ तो ज़माने ने एहतिराज़ बहुत
Sarfaraz Ahmed Aasee
मारी फूँकें तो गए , तन से सारे रोग(कुंडलिया)
मारी फूँकें तो गए , तन से सारे रोग(कुंडलिया)
Ravi Prakash
बढ़ी शय है मुहब्बत
बढ़ी शय है मुहब्बत
shabina. Naaz
जरुरत क्या है देखकर मुस्कुराने की।
जरुरत क्या है देखकर मुस्कुराने की।
Ashwini sharma
😢स्मृति शेष / संस्मरण
😢स्मृति शेष / संस्मरण
*Author प्रणय प्रभात*
किस के लिए संवर रही हो तुम
किस के लिए संवर रही हो तुम
Ram Krishan Rastogi
जय शिव-शंकर
जय शिव-शंकर
Anil Mishra Prahari
बुद्ध भक्त सुदत्त
बुद्ध भक्त सुदत्त
Buddha Prakash
शिक्षक को शिक्षण करने दो
शिक्षक को शिक्षण करने दो
Sanjay Narayan
2379.पूर्णिका
2379.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
जब कोई हाथ और साथ दोनों छोड़ देता है
जब कोई हाथ और साथ दोनों छोड़ देता है
Ranjeet kumar patre
इंसान ऐसा ही होता है
इंसान ऐसा ही होता है
Mamta Singh Devaa
"व्यक्ति जब अपने अंदर छिपी हुई शक्तियों के स्रोत को जान लेता
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
عظمت رسول کی
عظمت رسول کی
अरशद रसूल बदायूंनी
*वीरस्य भूषणम् *
*वीरस्य भूषणम् *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Pyasa ke dohe (vishwas)
Pyasa ke dohe (vishwas)
Vijay kumar Pandey
*
*"हिंदी"*
Shashi kala vyas
रूप पर अनुरक्त होकर आयु की अभिव्यंजिका है
रूप पर अनुरक्त होकर आयु की अभिव्यंजिका है
महेश चन्द्र त्रिपाठी
Loading...