Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Dec 2023 · 1 min read

डॉ अरुण कुमार शास्त्री

डॉ अरुण कुमार शास्त्री
जिंदगी बीत गई कहते सुनते – लोग क्या कहेंगे
अब संभाल लो अपने को अपनी जिंदगी जीना शुरू करदो
लोग तो कहते रहे कहते रहेंगे और नहीं बदलेंगे आप बदल जाओ अगर खुशहाल रहना है तो ।

251 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from DR ARUN KUMAR SHASTRI
View all
You may also like:
सजी सारी अवध नगरी , सभी के मन लुभाए हैं
सजी सारी अवध नगरी , सभी के मन लुभाए हैं
Rita Singh
कुछ खामोशियाँ तुम ले आना।
कुछ खामोशियाँ तुम ले आना।
Manisha Manjari
सातो जनम के काम सात दिन के नाम हैं।
सातो जनम के काम सात दिन के नाम हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
आँखे नम हो जाती माँ,
आँखे नम हो जाती माँ,
Sushil Pandey
खरगोश
खरगोश
SHAMA PARVEEN
न जाने कहाँ फिर से, उनसे मुलाकात हो जाये
न जाने कहाँ फिर से, उनसे मुलाकात हो जाये
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
अहं
अहं
Shyam Sundar Subramanian
करने लगा मैं ऐसी बचत
करने लगा मैं ऐसी बचत
gurudeenverma198
"पहले मुझे लगता था कि मैं बिका नही इसलिए सस्ता हूँ
गुमनाम 'बाबा'
बदनाम से
बदनाम से
विजय कुमार नामदेव
.
.
शेखर सिंह
(हमसफरी की तफरी)
(हमसफरी की तफरी)
Sangeeta Beniwal
अभिमान
अभिमान
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
सोशलमीडिया की दोस्ती
सोशलमीडिया की दोस्ती
लक्ष्मी सिंह
"महंगाई"
Slok maurya "umang"
झूठे सपने
झूठे सपने
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
अमर शहीद स्वामी श्रद्धानंद
अमर शहीद स्वामी श्रद्धानंद
कवि रमेशराज
सेंसेक्स छुए नव शिखर,
सेंसेक्स छुए नव शिखर,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
पेपर लीक हो रहे ऐसे
पेपर लीक हो रहे ऐसे
Dhirendra Singh
जो कायर अपनी गली में दुम हिलाने को राज़ी नहीं, वो खुले मैदान
जो कायर अपनी गली में दुम हिलाने को राज़ी नहीं, वो खुले मैदान
*प्रणय प्रभात*
"तरबूज"
Dr. Kishan tandon kranti
जब इंस्पेक्टर ने प्रेमचंद से कहा- तुम बड़े मग़रूर हो..
जब इंस्पेक्टर ने प्रेमचंद से कहा- तुम बड़े मग़रूर हो..
Shubham Pandey (S P)
Charlie Chaplin truly said:
Charlie Chaplin truly said:
Vansh Agarwal
मिलन
मिलन
Dr.Priya Soni Khare
*देखो ऋतु आई वसंत*
*देखो ऋतु आई वसंत*
Dr. Priya Gupta
एहसास ए तपिश क्या होती है
एहसास ए तपिश क्या होती है
Shweta Soni
*आस्था*
*आस्था*
Dushyant Kumar
परम प्रकाश उत्सव कार्तिक मास
परम प्रकाश उत्सव कार्तिक मास
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
What consumes your mind controls your life
What consumes your mind controls your life
पूर्वार्थ
*जी रहें हैँ जिंदगी किस्तों में*
*जी रहें हैँ जिंदगी किस्तों में*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
Loading...