Sep 26, 2016 · 1 min read

“डर नहीं है”

कूद पड़ा हु “मैदानों” में हार जीत का ‘डर’ नही हे
केहदो जाके “दुश्मनो” को ये तुम्हारा “घर” नहीं हे

अपनी “रक्षा” करनी खुद अच्छे से हम जानते हे
घर का ‘भेदी” कोण हे हम “बख़ुबी” पहचानते हे

देशकी खतिर काम आजाये’ मेरा ये ज़ुनून वही हे
कूद पड़ा हु “मैदानों” में हार जीत का ‘डर’ नही हे

अंगेजो की थी हकूमत मिल चुनोती दी सबने
मुगल’ को भी मार भगाया एक हुवे सब अपने

सुभाषचंद्र बोस ने मांगा ले लो मेरा ‘खून” वही हे
कूद पड़ा हु “मैदानों” में हार जीत का ‘डर’ नही हे
@अंकुर…..

1 Like · 100 Views
You may also like:
अब कहां कोई।
Taj Mohammad
रोग ने कितना अकेला कर दिया
Dr Archana Gupta
* प्रेमी की वेदना *
Dr. Alpa H.
अभी दुआ में हूं बद्दुआ ना दो।
Taj Mohammad
पापा को मैं पास में पाऊँ
Dr. Pratibha Mahi
मुझसे बचकर वह अब जायेगा कहां
Ram Krishan Rastogi
फीका त्यौहार
पाण्डेय चिदानन्द
शर्म-ओ-हया
Dr. Alpa H.
प्रकाशित हो मिल गया, स्वाधीनता के घाम से
Pt. Brajesh Kumar Nayak
🌺🌺प्रेम की राह पर-47🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
श्री राम स्तुति
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
रत्नों में रत्न है मेरे बापू
Nitu Sah
सहारा
अरशद रसूल /Arshad Rasool
मां ‌धरती
AMRESH KUMAR VERMA
राष्ट्रवाद का रंग
मनोज कर्ण
ये चिड़िया
Anamika Singh
धरती माँ का करो सदा जतन......
Dr. Alpa H.
प्रेम का आँगन
मनोज कर्ण
ग़ज़ल
kamal purohit
हे विधाता शरण तेरी
Saraswati Bajpai
विद्या पर दोहे
Dr. Sunita Singh
समंदर की चेतावनी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बहन का जन्मदिन
Khushboo Khatoon
शिव शम्भु
Anamika Singh
वो काली रात...!
मनोज कर्ण
जो मौका रहनुमाई का मिला है
Anis Shah
पहचान लेना तुम।
Taj Mohammad
ग्रीष्म ऋतु भाग ४
Vishnu Prasad 'panchotiya'
हे पिता,करूँ मैं तेरा वंदन
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
🌷🍀प्रेम की राह पर-49🍀🌷
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...