Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Jul 2023 · 1 min read

*ठेला (बाल कविता)*

ठेला (बाल कविता)

बाजारों की शोभा ठेला
बिकता इस पर आलू-केला
मूॅंगफली ठेले पर आई
चाट-पकौड़ी सब ने खाई
हाथों से है इसे चलाते
दिन भर लिए घूमते जाते

रचयिता : रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा, रामपुर, उत्तर प्रदेश
मोबाइल 99976 15451

314 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
"अमरूद की महिमा..."
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हे ईश्वर किसी की इतनी भी परीक्षा न लें
हे ईश्वर किसी की इतनी भी परीक्षा न लें
Gouri tiwari
यही जीवन है
यही जीवन है
Otteri Selvakumar
सत्य की खोज
सत्य की खोज
Surya Barman
माँ
माँ
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
डारा-मिरी
डारा-मिरी
Dr. Kishan tandon kranti
भाग्य प्रबल हो जायेगा
भाग्य प्रबल हो जायेगा
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
सावनी श्यामल घटाएं
सावनी श्यामल घटाएं
surenderpal vaidya
रखो कितनी भी शराफत वफा सादगी
रखो कितनी भी शराफत वफा सादगी
Mahesh Tiwari 'Ayan'
मेरे होते हुए जब गैर से वो बात करती हैं।
मेरे होते हुए जब गैर से वो बात करती हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
देह खड़ी है
देह खड़ी है
Dr. Sunita Singh
"सच कहूं _ मानोगे __ मुझे प्यार है उनसे,
Rajesh vyas
मोरनी जैसी चाल
मोरनी जैसी चाल
Dr. Vaishali Verma
वही हसरतें वही रंजिशे ना ही दर्द_ए_दिल में कोई कमी हुई
वही हसरतें वही रंजिशे ना ही दर्द_ए_दिल में कोई कमी हुई
शेखर सिंह
कविता: स्कूल मेरी शान है
कविता: स्कूल मेरी शान है
Rajesh Kumar Arjun
ग़ज़ल/नज़्म - ये हर दिन और हर रात हमारी होगी
ग़ज़ल/नज़्म - ये हर दिन और हर रात हमारी होगी
अनिल कुमार
2324.पूर्णिका
2324.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
एक अच्छी जिंदगी जीने के लिए पढ़ाई के सारे कोर्स करने से अच्छा
एक अच्छी जिंदगी जीने के लिए पढ़ाई के सारे कोर्स करने से अच्छा
Dr. Man Mohan Krishna
दिल जीत लेगी
दिल जीत लेगी
Dr fauzia Naseem shad
आज़ादी के दीवाने
आज़ादी के दीवाने
करन ''केसरा''
सर्वोपरि है राष्ट्र
सर्वोपरि है राष्ट्र
Dr. Harvinder Singh Bakshi
मेरे अंदर भी इक अमृता है
मेरे अंदर भी इक अमृता है
Shweta Soni
बदल लिया ऐसे में, अपना विचार मैंने
बदल लिया ऐसे में, अपना विचार मैंने
gurudeenverma198
जीवन सूत्र (#नेपाली_लघुकथा)
जीवन सूत्र (#नेपाली_लघुकथा)
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
पत्नी जब चैतन्य,तभी है मृदुल वसंत।
पत्नी जब चैतन्य,तभी है मृदुल वसंत।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
खाते मोबाइल रहे, हम या हमको दुष्ट (कुंडलिया)
खाते मोबाइल रहे, हम या हमको दुष्ट (कुंडलिया)
Ravi Prakash
शहर में बिखरी है सनसनी सी ,
शहर में बिखरी है सनसनी सी ,
Manju sagar
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
जिंदगी के वास्ते
जिंदगी के वास्ते
Surinder blackpen
Loading...