Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 May 2024 · 1 min read

जो सरकार धर्म और जाति को लेकर बनी हो मंदिर और मस्जिद की बात

जो सरकार धर्म और जाति को लेकर बनी हो मंदिर और मस्जिद की बात करती हो वह रोजगार कैसे पैदा करेगी क्योंकि धर्म के नाम पर रोजगार सिर्फ एक विशेष जाति को मिलता है आम नागरिक को नहीं धर्म के नाम पर कमाया धन एक विशेष जाति को अमीर बनाता है और आम नागरिक से छीना जाता है कभी दान के नाम पर कभी अनुष्ठान के नाम पर धर्म की बात करने वालों का विज्ञान से कोसों दूर का नाता भी नहीं होता देश और विश्व विज्ञान से चलते हैं रोजगार का निर्माण विज्ञान से होता है शिक्षा के आधार पर होता है वह शिक्षा जो पूरे विश्व में लगभग एक समान पढ़ाई जाती है ना कि मनगढ़ंत पुराण या ग्रंथों से पढ़ने के बाद तो किसी उपयोग में नहीं आते हैं चाहे रामायण महाभारत हो या वेद गीता कुरान बाइबल आदि उनके पड़े हुए ज्ञान का उपयोग सिर्फ धार्मिक स्थल पर ही आप कर सकते हैं अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में किसी भी तरह का रोजगार आप नहीं कर सकते और ना ही अपने परिवार को चला सकते हैं।

विज्ञान:- लोगों में नई ऊर्जा लाता है रोजगार लाता है नई संसाधन पैदा करता है देश को नई पहचान दिलाने की ताकत रखता है…

धर्म:-लोगों को बांटता है धर्म के नाम पर लोग आपस में लड़ते हैं
धर्म के नाम पर भीख मांगते हैं धर्म के नाम पर
मासूम जानवरों की बलि दी जाती है…

47 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
जोश,जूनून भरपूर है,
जोश,जूनून भरपूर है,
Vaishaligoel
बसंत (आगमन)
बसंत (आगमन)
Neeraj Agarwal
चलो मौसम की बात करते हैं।
चलो मौसम की बात करते हैं।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
** फितरत **
** फितरत **
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
"" *अक्षय तृतीया* ""
सुनीलानंद महंत
मौत के लिए किसी खंज़र की जरूरत नहीं,
मौत के लिए किसी खंज़र की जरूरत नहीं,
लक्ष्मी सिंह
एक ही राम
एक ही राम
Satish Srijan
"बड़ी चुनौती ये चिन्ता"
Dr. Kishan tandon kranti
पिता
पिता
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
*कर्म बंधन से मुक्ति बोध*
*कर्म बंधन से मुक्ति बोध*
Shashi kala vyas
पूरा जब वनवास हुआ तब, राम अयोध्या वापस आये
पूरा जब वनवास हुआ तब, राम अयोध्या वापस आये
Dr Archana Gupta
❤️एक अबोध बालक ❤️
❤️एक अबोध बालक ❤️
DR ARUN KUMAR SHASTRI
■ अनफिट हो के भी आउट नहीं मिस्टर पनौती लाल।
■ अनफिट हो के भी आउट नहीं मिस्टर पनौती लाल।
*प्रणय प्रभात*
ज़िंदगी की ज़रूरत के
ज़िंदगी की ज़रूरत के
Dr fauzia Naseem shad
जन्म दिवस
जन्म दिवस
Jatashankar Prajapati
सुबह होने को है साहब - सोने का टाइम हो रहा है
सुबह होने को है साहब - सोने का टाइम हो रहा है
Atul "Krishn"
2840.*पूर्णिका*
2840.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
*मिलती जीवन में खुशी, रहते तब तक रंग (कुंडलिया)*
*मिलती जीवन में खुशी, रहते तब तक रंग (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
नारी है नारायणी
नारी है नारायणी
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
"मां बनी मम्मी"
पंकज कुमार कर्ण
बरसो रे मेघ (कजरी गीत)
बरसो रे मेघ (कजरी गीत)
Vishnu Prasad 'panchotiya'
तूं कैसे नज़र अंदाज़ कर देती हों दिखा कर जाना
तूं कैसे नज़र अंदाज़ कर देती हों दिखा कर जाना
Keshav kishor Kumar
जिन्दगी ....
जिन्दगी ....
sushil sarna
मैं जाटव हूं और अपने समाज और जाटवो का समर्थक हूं किसी अन्य स
मैं जाटव हूं और अपने समाज और जाटवो का समर्थक हूं किसी अन्य स
शेखर सिंह
ना अश्रु कोई गिर पाता है
ना अश्रु कोई गिर पाता है
Shweta Soni
बचपन खो गया....
बचपन खो गया....
Ashish shukla
तू सुन ले मेरे दिल की पुकार को
तू सुन ले मेरे दिल की पुकार को
gurudeenverma198
पेड़ और ऑक्सीजन
पेड़ और ऑक्सीजन
विजय कुमार अग्रवाल
दीपावली
दीपावली
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
रमेशराज के विरोधरस दोहे
रमेशराज के विरोधरस दोहे
कवि रमेशराज
Loading...