Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Sep 2022 · 1 min read

जैसे सांसों में ज़िंदगी ही नहीं

बिछड़े तुझसे तो ये लगा दिल को ।
जैसे सांसों में जिन्दगी ही नहीं ।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
Tag: शेर
10 Likes · 1 Comment · 32 Views
You may also like:
कर्म ही पूजा है।
Anamika Singh
पलटू राम
AJAY AMITABH SUMAN
हवा का झोका हू
AK Your Quote Shayari
समझता है सबसे बड़ा हो गया।
सत्य कुमार प्रेमी
मारे ऊँची धाँक,कहे मैं पंडित ऊँँचा
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मेरी आंखों के ख़्वाब
Dr fauzia Naseem shad
" गौरा "
Dr Meenu Poonia
बे-इंतिहा मोहब्बत करते हैं तुमसे
VINOD KUMAR CHAUHAN
पिता - नीम की छाँव सा - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
गंतव्य में पीछे मुड़े, अब हमें स्वीकार नहीं
Er.Navaneet R Shandily
ओ जानें ज़ाना !
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
जीवन संगीत
Shyam Sundar Subramanian
करके शठ शठता चले
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
उसका नाम लिखकर।
Taj Mohammad
अंतर्द्वंद्व
मनोज कर्ण
तूने किया हलाल
Jatashankar Prajapati
*कुर्सी* 【कुंडलिया】
Ravi Prakash
ये बारिश की बूंदें ऐसे मुझसे टकराईं हैं।
Manisha Manjari
💝 जोश जवानी आये हाये 💝
DR ARUN KUMAR SHASTRI
तेरा हर लाल सरदार बने
Ashish Kumar
نظریں بتا رہی ہیں تمھیں مجھ سے پیار ہے۔
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
मोहब्बत ही आजकल कम हैं
Dr.sima
ग्रहण
ओनिका सेतिया 'अनु '
बादल को पाती लिखी
अटल मुरादाबादी, ओज व व्यंग कवि
✍️ते मोगऱ्याचे झाड होते✍️
'अशांत' शेखर
मेरे पिता से बेहतर कोई नहीं
Manu Vashistha
【34】*!!* आग दबाये मत रखिये *!!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
तुमसे इस तरह नफरत होने लगी
gurudeenverma198
गुरु चरण
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
नर्मदा के घाट पर / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
Loading...