Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jan 29, 2017 · 1 min read

जुर्म किसका था

जुर्म किसका था, मिली किसको सज़ा रहने दो .
किसको होना था, हुआ कौन रिहा, रहने दो..

दफ़्न मुझमें हैं कई ख़्वाब अज़ल से लेकिन ,
मेरी आँखों में उमीदों का दिया रहने दो ..

ज़िन्दगी मेरी किसी और के हिस्से की थी .
किसके हाथों से मिली मुझको क़ज़ा रहने दो..

खो न जाऊँ मैं कहीं भीड़ भरी दुनिया में.
मेरा चेहरा है मेरा, इसको मेरा रहने दो ..

दौर ए ग़र्दिश में मेरे दिल को तसल्ली मिलती..
उसकी चौखट पे मेरा सर ये झुका रहने दो..

जिस्म मिट्टी का लिए मैं हूँ पड़ा दरिया में ..
मेरे होंठों पे मगर हर्फ़ ए दुआ रहने दो..

मैंने रक्खी ही कहाँ आस वफ़ा की इससे,
मुझसे दुनिया ये ख़फ़ा है तो ख़फ़ा रहने दो..

आबले पाँवों में चेहरे पे शिकन भी लेकिन.
मेरी धड़कन में ” नज़र” नामे ख़ुदा रहने दो..

Nazar Dwivedi

1 Comment · 111 Views
You may also like:
राब्ता
सिद्धार्थ गोरखपुरी
Time never returns
Buddha Prakash
टोकरी में छोकरी / (समकालीन गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
छद्म राष्ट्रवाद की पहचान
Mahender Singh Hans
माँ तेरी जैसी कोई नही।
Anamika Singh
Keep faith in GOD and yourself.
Taj Mohammad
इंसानियत बनाती है
gurudeenverma198
पिता अब बुढाने लगे है
n_upadhye
मैं मेरा परिवार और वो यादें...💐
लवकुश यादव "अज़ल"
“पिया” तुम बिन
DESH RAJ
मुकरिया__ चाय आसाम वाली
Manu Vashistha
मेरे बेटे ने
Dhirendra Panchal
धरती माँ का करो सदा जतन......
Dr. Alpa H. Amin
सुरज दादा
Anamika Singh
सेमर
विकास वशिष्ठ *विक्की
कुछ बारिशें बंजर लेकर आती हैं।
Manisha Manjari
टूटता तारा
Anamika Singh
तेरा नसीब बना हूं।
Taj Mohammad
*संस्मरण : श्री गुरु जी*
Ravi Prakash
जुबान काट दी जाएगी - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
महंगाई के दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
किसको बुरा कहें यहाँ अच्छा किसे कहें
Dr Archana Gupta
✍️शराफ़त✍️
"अशांत" शेखर
बगिया जोखीराम में श्री चंद्र सतगुरु की आरती
Ravi Prakash
💐 हे तात नमन है तुमको 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
رہنما مل گیا
अरशद रसूल /Arshad Rasool
पुस्तक समीक्षा -कैवल्य
Rashmi Sanjay
एक गलती ( लघु कथा)
Ravi Prakash
।। मेरे तात ।।
Akash Yadav
O brave soldiers.
Taj Mohammad
Loading...