Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Sep 2016 · 2 min read

जुमलो का ये दौर

पाठको की खामोशी के कारण लौट गया था,
किन्तु में ज्यादे खामोश नहीं रह पाता l
प्रस्तुत है हास्य मनोरम व्यंग नमो नमो

जुमलो का दौर चल पड़ा,हो रही जुमलो की बरसात,
कौन पाक वो ? कौन चीन है ? कौन हे वो
पुतीन ?
कोन बोल रहा ? कौन मांग रहा हमसे हमारा कश्मीर,
कश्मीर की जो बात करोगे लेंगे बलूच को हम छीन ll
जुमलो की बरसात हो रही जुमलो के ये तीर ll

?
(^_^)

⏬अह्म ब्राह्मास्मि ⏬
?
बिन मौसम बरसात में लाऊं,बिन बादल पानी बरसाऊ,
हाथ में उनके हाथ डालकर, पाक में मैं बिरयानी खाऊ,
सराफत से साडी मंगवाऊ उन्हें साल में भेट चढ़ाऊँ,
तब जाके भीरु भक्तो में मैं शेर,शेर और शेर कहाँऊ,

छप्पन का सीना ताने जो लाल किले पर जम जाऊं,
कश्मीर की वो बात करें तो,बलूच का डर दिखलाऊँ,
घर में घुस बैठे आतंकी तो, फ़ौरन ट्वीट भी कर आऊं,
जो लहूलुहान हो सीमा तो मगर के आंसू भी बहाऊ,
तब जाके हे आर्य श्रेष्ठ में देश का नेता कहलाऊँ,

डिजटल इंडिया,स्मार्ट सिटी मै जन जन को समझाऊ,
करोनो-अरबो खा कर बैठे,मै उनका प्रचारक बन जाऊं,
4G के नाम पर तब में 2G से डिजिटल देेश बनाऊं,
सब्सीडी के हानि लाभ को में तुमको समझाऊ,
जो सब्सीडी पर जीवन जीते उन्हें दीन-हीन बतलाऊँ,
तब जाके हे आर्य महान विकास पुरुष में कहलाऊँ ll

दिल्ली मंत्री करे कुकर्म, गला फाड़ – फाड़ में चिल्लाऊं,
खुद के खोटे सिक्के को में क्लीन चिट भी दिलवाऊ,
फिर कहे भक्क्त मुझे,तुम्हे प्रणाम तुम्हे प्रणाम,
हर भारत वासी तब सोचे काश में भी नेता बन पाऊ,

II मृदुल चंद्र श्रीवास्तव ll

Language: Hindi
309 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
दिल कि गली
दिल कि गली
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
■ आज का शेर
■ आज का शेर
*प्रणय प्रभात*
करवाचौथ
करवाचौथ
Surinder blackpen
लघुकथा -
लघुकथा - "कनेर के फूल"
Dr Tabassum Jahan
"तलाश"
Dr. Kishan tandon kranti
ज़िंदगी
ज़िंदगी
Dr. Rajeev Jain
मन-गगन!
मन-गगन!
Priya princess panwar
"रूढ़िवादिता की सोच"
Dr Meenu Poonia
3623.💐 *पूर्णिका* 💐
3623.💐 *पूर्णिका* 💐
Dr.Khedu Bharti
सब कुछ कह लेने के बाद भी कुछ बातें दफ़्न रह जाती हैं, सीने क
सब कुछ कह लेने के बाद भी कुछ बातें दफ़्न रह जाती हैं, सीने क
पूर्वार्थ
★साथ तेरा★
★साथ तेरा★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
माथे पर दुपट्टा लबों पे मुस्कान रखती है
माथे पर दुपट्टा लबों पे मुस्कान रखती है
Keshav kishor Kumar
कोई कितना
कोई कितना
Dr fauzia Naseem shad
ऐ हवा रुक अभी इंतजार बाकी है ।
ऐ हवा रुक अभी इंतजार बाकी है ।
Phool gufran
//सुविचार//
//सुविचार//
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
अभी तो वो खफ़ा है लेकिन
अभी तो वो खफ़ा है लेकिन
gurudeenverma198
नज़रे हटा के मुझको मेरा यार देखता है
नज़रे हटा के मुझको मेरा यार देखता है
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
बेटा
बेटा
अनिल "आदर्श"
ग़ज़ल
ग़ज़ल
प्रीतम श्रावस्तवी
ये एहतराम था मेरा कि उसकी महफ़िल में
ये एहतराम था मेरा कि उसकी महफ़िल में
Shweta Soni
सारे ही चेहरे कातिल है।
सारे ही चेहरे कातिल है।
Taj Mohammad
*मनायेंगे स्वतंत्रता दिवस*
*मनायेंगे स्वतंत्रता दिवस*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
*बहन और भाई के रिश्ते, का अभिनंदन राखी है (मुक्तक)*
*बहन और भाई के रिश्ते, का अभिनंदन राखी है (मुक्तक)*
Ravi Prakash
भोर
भोर
Kanchan Khanna
कोरोना काल मौत का द्वार
कोरोना काल मौत का द्वार
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
मुझको कभी भी आज़मा कर देख लेना
मुझको कभी भी आज़मा कर देख लेना
Ram Krishan Rastogi
खुद को इतना .. सजाय हुआ है
खुद को इतना .. सजाय हुआ है
Neeraj Mishra " नीर "
I'm not proud
I'm not proud
VINOD CHAUHAN
गांधी जी के नाम पर
गांधी जी के नाम पर
Dr. Pradeep Kumar Sharma
खंजर
खंजर
AJAY AMITABH SUMAN
Loading...