Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Oct 2022 · 1 min read

जी उठती हूं…तड़प उठती हूं…

जी उठती हूं, तड़प उठती हूं..

तू आता है मेरे, जब ख्वाब में,
जी उठती हूं पल दो पल के लिए।
छू जाता है मुझे, जब यादों में
तड़प उठती हूं तुझे पाने के लिए।।

#seematuhaina

6 Likes · 3 Comments · 105 Views
You may also like:
बिंदु छंद "राम कृपा"
बासुदेव अग्रवाल 'नमन'
बन जायेगा जल्द ही
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
🇭🇺 श्रीयुत अटलबिहारी जी
Pt. Brajesh Kumar Nayak
💐💐यह सफ़र कभी ख़त्म नहीं होगा💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
प्रेम -जगत/PREM JAGAT
Shivraj Anand
मुरली मनेहर कान्हा प्यारे
VINOD KUMAR CHAUHAN
The Magical Darkness
Manisha Manjari
तुलसी गीत
Shiva Awasthi
फिर भी
Seema 'Tu hai na'
लाज-लेहाज
Anil Jha
✍️नियत में जा’ल रहा✍️
'अशांत' शेखर
पापाचार बढ़ल बसुधा पर (भोजपुरी)
संजीव शुक्ल 'सचिन'
पिंजरबद्ध प्राणी की चीख
AMRESH KUMAR VERMA
■ साल की समीक्षा
*प्रणय प्रभात*
चार वीर सिपाही
अनूप अंबर
तितली
लक्ष्मी सिंह
*कंधों में अब दम ही कब है, अर्थी कैसे ढोयेंगे...
Ravi Prakash
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग३]
Anamika Singh
घिसी चप्पल
N.ksahu0007@writer
परिणति
Shyam Sundar Subramanian
जाने कहाँ
Dr fauzia Naseem shad
~पिता~कविता~
Vijay kumar Pandey
दिल मुसलसल आज भी तुमको याद करता है।
Taj Mohammad
सम्मान
Saraswati Bajpai
भारत माँ पे अर्पित कर दूँ
Swami Ganganiya
समाजसेवा
Kanchan Khanna
कृष्ण नामी दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
कोई दीपक ऐंसा भी हो / (मुक्तक)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
लोरी (Lullaby)
Shekhar Chandra Mitra
इज़हार
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
Loading...