Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Nov 2023 · 1 min read

जीवन में

जीवन में सादगी और सज्जनता को अपनाना चाहिए।
अपने चारो तरफ स्वच्छता का वाता वरन बनाना चाहिए।।

2 Likes · 210 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
धरातल की दशा से मुंह मोड़
धरातल की दशा से मुंह मोड़
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
बचपन अपना अपना
बचपन अपना अपना
Sanjay ' शून्य'
ये तुम्हें क्या हो गया है.......!!!!
ये तुम्हें क्या हो गया है.......!!!!
shabina. Naaz
संवेदन-शून्य हुआ हर इन्सां...
संवेदन-शून्य हुआ हर इन्सां...
डॉ.सीमा अग्रवाल
अखंड भारत
अखंड भारत
कार्तिक नितिन शर्मा
टिमटिमाता समूह
टिमटिमाता समूह
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
जुनून
जुनून
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Tum khas ho itne yar ye  khabar nhi thi,
Tum khas ho itne yar ye khabar nhi thi,
Sakshi Tripathi
Bundeli doha-fadali
Bundeli doha-fadali
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
आज होगा नहीं तो कल होगा
आज होगा नहीं तो कल होगा
Shweta Soni
बुरा वक्त
बुरा वक्त
लक्ष्मी सिंह
शीर्षक – मां
शीर्षक – मां
Sonam Puneet Dubey
ले हौसले बुलंद कर्म को पूरा कर,
ले हौसले बुलंद कर्म को पूरा कर,
Anamika Tiwari 'annpurna '
*जन्मभूमि में प्राण-प्रतिष्ठित, प्रभु की जय-जयकार है (गीत)*
*जन्मभूमि में प्राण-प्रतिष्ठित, प्रभु की जय-जयकार है (गीत)*
Ravi Prakash
भले ही शरीर में खून न हो पर जुनून जरूर होना चाहिए।
भले ही शरीर में खून न हो पर जुनून जरूर होना चाहिए।
Rj Anand Prajapati
औरत औकात
औरत औकात
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
"शब्दों की सार्थकता"
Dr. Kishan tandon kranti
फकत है तमन्ना इतनी।
फकत है तमन्ना इतनी।
Taj Mohammad
गम
गम
इंजी. संजय श्रीवास्तव
What Was in Me?
What Was in Me?
Bindesh kumar jha
असुर सम्राट भक्त प्रह्लाद – तपोभूमि की यात्रा – 06
असुर सम्राट भक्त प्रह्लाद – तपोभूमि की यात्रा – 06
Kirti Aphale
*राम मेरे तुम बन आओ*
*राम मेरे तुम बन आओ*
Poonam Matia
संतान को संस्कार देना,
संतान को संस्कार देना,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
(18) छलों का पाठ्यक्रम इक नया चलाओ !
(18) छलों का पाठ्यक्रम इक नया चलाओ !
Kishore Nigam
आख़िरी इश्क़, प्यालों से करने दे साकी-
आख़िरी इश्क़, प्यालों से करने दे साकी-
Shreedhar
प्रेम हैं अनन्त उनमें
प्रेम हैं अनन्त उनमें
The_dk_poetry
ज़हालत का दौर
ज़हालत का दौर
Shekhar Chandra Mitra
ఓ యువత మేలుకో..
ఓ యువత మేలుకో..
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
#शेर-
#शेर-
*प्रणय प्रभात*
ये आँखे हट नही रही तेरे दीदार से, पता नही
ये आँखे हट नही रही तेरे दीदार से, पता नही
Tarun Garg
Loading...