Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Nov 2022 · 1 min read

जीवन का गीत

जब से तुमको देखा
हम हो गए बेचैन
नींद नहीं आती रातों को
दिखते तेरे नैन

प्यार हुआ है तुझसे
तू जान ले मेरे मीत
आओ मिलकर गाएं हम
इस जीवन का गीत

तेरी ही अदाओं का
है जादू मुझपर ये
भूल गया हूं सबकुछ
अब याद तू ही रे

कबतक बैठूं अब मैं
इंतज़ार में तेरे
बता दे मुझको जल्दी
ओ प्यार तू मेरे

क्या है तेरी मर्जी
मुझको बता यारा
साथ रहेगा मेरे अब या
दिल तोड़ जा यारा

तू है जग से प्यारा
मेरे जीवन का सहारा
आजा अब जीवन में
मिलकर करें गुज़ारा।

Language: Hindi
13 Likes · 1032 Views

Books from सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'

You may also like:
है मुहब्बत का उनकी असर आज भी
है मुहब्बत का उनकी असर आज भी
Dr Archana Gupta
*स्वच्छता का अभियान चलाते(मुक्तक)*
*स्वच्छता का अभियान चलाते(मुक्तक)*
Ravi Prakash
मोहब्बत जिससे हमने की है गद्दारी नहीं की।
मोहब्बत जिससे हमने की है गद्दारी नहीं की।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
राम बनो!
राम बनो!
Suraj kushwaha
अकेले-अकेले
अकेले-अकेले
Rashmi Sanjay
💐प्रेम कौतुक-267💐
💐प्रेम कौतुक-267💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अंतरिक्ष 🌒☀️
अंतरिक्ष 🌒☀️
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
पेड़ पौधों के प्रति मेरा वैज्ञानिक समर्पण
पेड़ पौधों के प्रति मेरा वैज्ञानिक समर्पण
Ankit Halke jha
"ललकारती चीख"
Dr Meenu Poonia
अब ना जीना किश्तों में।
अब ना जीना किश्तों में।
Taj Mohammad
आस्तीक भाग -दस
आस्तीक भाग -दस
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
हर चीज से वीरान मैं अब श्मशान बन गया हूँ,
हर चीज से वीरान मैं अब श्मशान बन गया हूँ,
Aditya Prakash
भय
भय
Shyam Sundar Subramanian
नव्य उत्कर्ष
नव्य उत्कर्ष
Dr. Sunita Singh
***
*** " एक आवाज......!!! " ***
VEDANTA PATEL
एक जिंदगी एक है जीवन
एक जिंदगी एक है जीवन
विजय कुमार अग्रवाल
अन्नदाता किसान कैसे हो
अन्नदाता किसान कैसे हो
नूरफातिमा खातून नूरी
ਹਕੀਕਤ ਵਿੱਚ
ਹਕੀਕਤ ਵਿੱਚ
Surinder blackpen
अपनों की भीड़ में भी
अपनों की भीड़ में भी
Dr fauzia Naseem shad
✍️तर्कहीन आभासी अवास्तविक अवतारवादी कल्पनाओ के आधार पर..
✍️तर्कहीन आभासी अवास्तविक अवतारवादी कल्पनाओ के आधार पर..
'अशांत' शेखर
काश तू मौन रहता
काश तू मौन रहता
Pratibha Kumari
भगतसिंह से
भगतसिंह से
Shekhar Chandra Mitra
■ जीवन सार...
■ जीवन सार...
*Author प्रणय प्रभात*
ऐसा करने से पहले
ऐसा करने से पहले
gurudeenverma198
बाल कविता- कौन क्या बोला?
बाल कविता- कौन क्या बोला?
आर.एस. 'प्रीतम'
जीवन-गीत
जीवन-गीत
Dr. Kishan tandon kranti
नया दौर है सँभल
नया दौर है सँभल
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
🏠कुछ दिन की है बात ,सभी जन घर में रह लो।
🏠कुछ दिन की है बात ,सभी जन घर में रह...
Pt. Brajesh Kumar Nayak
जख्म के दाग हैं कितने मेरी लिखी किताबों में /
जख्म के दाग हैं कितने मेरी लिखी किताबों में /"लवकुश...
लवकुश यादव "अज़ल"
शायरी
शायरी
श्याम सिंह बिष्ट
Loading...