Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Apr 2024 · 1 min read

जीयो

हूं तो हूं, वरना तो मैं बिल्कुल नहीं हूं।
मैं नहीं कहता कि मैं बिल्कुल सही हूं।।

बाज़ है क्या वास करता दूसरों की नीड़ में।
साधु चलता है अकेला क्यूं चले वो भीड़ में।।

कर्म से बंधते सदा ही, बातों से बंधते बांध नहीं।
लोभी माया से हर्षित हों, क्या होते है साधु कहीं।।

झूठ सच सबकुछ सही, तो मनाओ जश्न उसका।
पाप क्या है पुण्य क्या, मत उठाओ प्रश्न उसका।।

हूं किया खुद को प्रयासित, कि जी सकूं मैं सत्व को।
रह कष्टों में “संजय” सीखा, जीवन के इस महत्व को।।

Language: Hindi
1 Like · 1 Comment · 37 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बुलंदियों से भरे हौसलें...!!!!
बुलंदियों से भरे हौसलें...!!!!
Jyoti Khari
"जीवन का आनन्द"
Dr. Kishan tandon kranti
कुछ लड़कों का दिल, सच में टूट जाता हैं!
कुछ लड़कों का दिल, सच में टूट जाता हैं!
The_dk_poetry
जवाबदारी / MUSAFIR BAITHA
जवाबदारी / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
💫समय की वेदना😥
💫समय की वेदना😥
SPK Sachin Lodhi
मरासिम
मरासिम
Shyam Sundar Subramanian
*अज्ञानी की कलम शूल_पर_गीत
*अज्ञानी की कलम शूल_पर_गीत
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी
*
*"हिंदी"*
Shashi kala vyas
ओ माँ मेरी लाज रखो
ओ माँ मेरी लाज रखो
Basant Bhagawan Roy
यूँ जो तुम लोगो के हिसाब से खुद को बदल रहे हो,
यूँ जो तुम लोगो के हिसाब से खुद को बदल रहे हो,
पूर्वार्थ
रास्तो के पार जाना है
रास्तो के पार जाना है
Vaishaligoel
सफ़ेदे का पत्ता
सफ़ेदे का पत्ता
नन्दलाल सुथार "राही"
बेमतलब सा तू मेरा‌, और‌ मैं हर मतलब से सिर्फ तेरी
बेमतलब सा तू मेरा‌, और‌ मैं हर मतलब से सिर्फ तेरी
Minakshi
विचारों को पढ़ कर छोड़ देने से जीवन मे कोई बदलाव नही आता क्य
विचारों को पढ़ कर छोड़ देने से जीवन मे कोई बदलाव नही आता क्य
Rituraj shivem verma
सम्बन्ध
सम्बन्ध
Shaily
कर्जमाफी
कर्जमाफी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
अपनी मर्ज़ी
अपनी मर्ज़ी
Dr fauzia Naseem shad
जीवन एक सफर है, इसे अपने अंतिम रुप में सुंदर बनाने का जिम्मे
जीवन एक सफर है, इसे अपने अंतिम रुप में सुंदर बनाने का जिम्मे
Sidhartha Mishra
आज हमने सोचा
आज हमने सोचा
shabina. Naaz
सनम की शिकारी नजरें...
सनम की शिकारी नजरें...
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
सुहागन की अभिलाषा🙏
सुहागन की अभिलाषा🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
*बड़ मावसयह कह रहा ,बरगद वृक्ष महान ( कुंडलिया )*
*बड़ मावसयह कह रहा ,बरगद वृक्ष महान ( कुंडलिया )*
Ravi Prakash
आसान नहीं होता...
आसान नहीं होता...
Dr. Seema Varma
पत्नी
पत्नी
Acharya Rama Nand Mandal
■ आज का शेर...
■ आज का शेर...
*Author प्रणय प्रभात*
बाल कहानी- अधूरा सपना
बाल कहानी- अधूरा सपना
SHAMA PARVEEN
सत्य की खोज
सत्य की खोज
Neeraj Agarwal
सुप्रभातम
सुप्रभातम
Ravi Ghayal
* बढ़ेंगे हर कदम *
* बढ़ेंगे हर कदम *
surenderpal vaidya
दोहा-
दोहा-
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
Loading...