Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 Jun 2023 · 1 min read

जिस दिन अपने एक सिक्के पर भरोसा हो जायेगा, सच मानिए आपका जीव

जिस दिन अपने एक सिक्के पर भरोसा हो जायेगा, सच मानिए आपका जीवन बदल जाएगा। आप भी ईश्वर के ही अंश है, आप तय करें कृष्ण है या कंस है। भागीरथ त्याग से कुल वंश होता है, अन्यथा रावण होके भी निरवंश होता है।
जय हिंद

1 Like · 444 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कहा किसी ने आ मिलो तो वक्त ही नही मिला।।
कहा किसी ने आ मिलो तो वक्त ही नही मिला।।
पूर्वार्थ
व्यापार नहीं निवेश करें
व्यापार नहीं निवेश करें
Sanjay ' शून्य'
उनकी यादें
उनकी यादें
Ram Krishan Rastogi
2325.पूर्णिका
2325.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
"खुश रहने के तरीके"
Dr. Kishan tandon kranti
■ लघुकथा
■ लघुकथा
*Author प्रणय प्रभात*
रिश्तों को तू तोल मत,
रिश्तों को तू तोल मत,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
घोसी                      क्या कह  रहा है
घोसी क्या कह रहा है
Rajan Singh
छोड़ दिया
छोड़ दिया
Srishty Bansal
International Chess Day
International Chess Day
Tushar Jagawat
फितरत
फितरत
लक्ष्मी सिंह
एहसास दे मुझे
एहसास दे मुझे
Dr fauzia Naseem shad
जा रहा है
जा रहा है
Mahendra Narayan
मजबूर हूँ यह रस्म निभा नहीं पाऊंगा
मजबूर हूँ यह रस्म निभा नहीं पाऊंगा
gurudeenverma198
सदा मन की ही की तुमने मेरी मर्ज़ी पढ़ी होती,
सदा मन की ही की तुमने मेरी मर्ज़ी पढ़ी होती,
अनिल "आदर्श"
कैद अधरों मुस्कान है
कैद अधरों मुस्कान है
Dr. Sunita Singh
यादों से कह दो न छेड़ें हमें
यादों से कह दो न छेड़ें हमें
sushil sarna
सात सवाल
सात सवाल
रोहताश वर्मा 'मुसाफिर'
बेगुनाही एक गुनाह
बेगुनाही एक गुनाह
Shekhar Chandra Mitra
आपसी समझ
आपसी समझ
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मेरा तितलियों से डरना
मेरा तितलियों से डरना
ruby kumari
मतदान दिवस
मतदान दिवस
विजय कुमार अग्रवाल
बड़े इत्मीनान से सो रहे हो,
बड़े इत्मीनान से सो रहे हो,
Buddha Prakash
इक चाँद नज़र आया जब रात ने ली करवट
इक चाँद नज़र आया जब रात ने ली करवट
Sarfaraz Ahmed Aasee
जब किसान के बेटे को गोबर में बदबू आने लग जाए
जब किसान के बेटे को गोबर में बदबू आने लग जाए
शेखर सिंह
I know people around me a very much jealous to me but I am h
I know people around me a very much jealous to me but I am h
Ankita Patel
उम्मीद.............एक आशा
उम्मीद.............एक आशा
Neeraj Agarwal
प्रेमी-प्रेमिकाओं का बिछड़ना, कोई नई बात तो नहीं
प्रेमी-प्रेमिकाओं का बिछड़ना, कोई नई बात तो नहीं
The_dk_poetry
दोस्ती पर वार्तालाप (मित्रता की परिभाषा)
दोस्ती पर वार्तालाप (मित्रता की परिभाषा)
Er.Navaneet R Shandily
*मानपत्रों से सजा मत देखना उद्गार में (हिंदी गजल/
*मानपत्रों से सजा मत देखना उद्गार में (हिंदी गजल/
Ravi Prakash
Loading...