Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Aug 2023 · 1 min read

जिसकी बहन प्रियंका है, उसका बजता डंका है।

जिसकी बहन प्रियंका है, उसका बजता डंका है।
फिर आई वो आंधी है, नाम से राहुल गांधी है।
राजीव जी का बेटा है, वायनाड से नेता है।
मोदी का सहयोगी है, पार्टी के लिए वियोगी है।

2 Likes · 219 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मोतियाबिंद
मोतियाबिंद
Surinder blackpen
मुक्तक
मुक्तक
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
राना दोहावली- तुलसी
राना दोहावली- तुलसी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
जिंदगी उधार की, रास्ते पर आ गई है
जिंदगी उधार की, रास्ते पर आ गई है
Smriti Singh
जीत
जीत
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
वह एक हीं फूल है
वह एक हीं फूल है
Shweta Soni
जिंदगी
जिंदगी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
कलयुगी धृतराष्ट्र
कलयुगी धृतराष्ट्र
Dr Parveen Thakur
सुमति
सुमति
Dr. Pradeep Kumar Sharma
■ कभी मत भूलना...
■ कभी मत भूलना...
*Author प्रणय प्रभात*
हमारा अपना........ जीवन
हमारा अपना........ जीवन
Neeraj Agarwal
घट -घट में बसे राम
घट -घट में बसे राम
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
किराये की कोख
किराये की कोख
Dr. Kishan tandon kranti
हर्षित आभा रंगों में समेट कर, फ़ाल्गुन लो फिर आया है,
हर्षित आभा रंगों में समेट कर, फ़ाल्गुन लो फिर आया है,
Manisha Manjari
*मैंने देखा है * ( 18 of 25 )
*मैंने देखा है * ( 18 of 25 )
Kshma Urmila
शिकारी संस्कृति के
शिकारी संस्कृति के
Sanjay ' शून्य'
नींव की ईंट
नींव की ईंट
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
गुमनाम ज़िन्दगी
गुमनाम ज़िन्दगी
Santosh Shrivastava
आज का नेता
आज का नेता
Shyam Sundar Subramanian
जनमदिन तुम्हारा !!
जनमदिन तुम्हारा !!
Dhriti Mishra
नव वर्ष
नव वर्ष
Satish Srijan
बहुत हैं!
बहुत हैं!
Srishty Bansal
आपकी अच्छाईया बेशक अदृष्य हो सकती है
आपकी अच्छाईया बेशक अदृष्य हो सकती है
Rituraj shivem verma
तुम मेरी
तुम मेरी
हिमांशु Kulshrestha
*यदि चित्त शिवजी में एकाग्र नहीं है तो कर्म करने से भी क्या
*यदि चित्त शिवजी में एकाग्र नहीं है तो कर्म करने से भी क्या
Shashi kala vyas
3213.*पूर्णिका*
3213.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
सुनों....
सुनों....
Aarti sirsat
ज़िंदगी ख़त्म थोड़ी
ज़िंदगी ख़त्म थोड़ी
Dr fauzia Naseem shad
*नीम का पेड़*
*नीम का पेड़*
Radhakishan R. Mundhra
इश्क- इबादत
इश्क- इबादत
Sandeep Pande
Loading...