Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Aug 2018 · 1 min read

जिनको ईमान

जिनको ईमान सरे आम लुटाते देखा .
क़द ज़माने में उन्हीं को ही बढ़ाते देखा ..

पारसाई की मिसालें थीं जहां में जिसकी . ( = पवित्रता )
गोरे आरिज़ पे उसे जान लुटाते देखा .. ( = गाल )

जिनके नक़्शों को कभी चूम लिया था मैंने .
शर्म आती है उन्हें राह जो जाते देखा ..

हम तो आये थे किनारों पे बड़ी हसरत से .
प्यास नदियों को भी आँखों में छिपाते देखा ..

जिनकी खुशरंग मिज़ाजी के बड़े चर्चे थे .
ख़ाक सहराओं की उनको भी उड़ाते देखा ..

नाम आया था तेरा यूँ ही मेरे होंठों पर .
अपने लफ़्ज़ों को भी ख़ुशबू सी लुटाते देखा ..

मर ही जाता जो कोई और बिताता ऐसी .
हमने ख़ुद को जो “नज़र” उम्र बिताते देखा ..

(नज़र द्विवेदी)

1 Like · 2 Comments · 388 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
।।बचपन के दिन ।।
।।बचपन के दिन ।।
Shashi kala vyas
ज़िंदगी में वो भी इम्तिहान आता है,
ज़िंदगी में वो भी इम्तिहान आता है,
Vandna Thakur
वसंत पंचमी
वसंत पंचमी
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
मैं तो निकला था चाहतों का कारवां लेकर
मैं तो निकला था चाहतों का कारवां लेकर
VINOD CHAUHAN
“बदलते रिश्ते”
“बदलते रिश्ते”
पंकज कुमार कर्ण
बेटियां
बेटियां
Dr Parveen Thakur
दुआओं में जिनको मांगा था।
दुआओं में जिनको मांगा था।
Taj Mohammad
सत्य कड़वा नहीं होता अपितु
सत्य कड़वा नहीं होता अपितु
Gouri tiwari
प्रेम हो जाए जिससे है भाता वही।
प्रेम हो जाए जिससे है भाता वही।
सत्य कुमार प्रेमी
छठ व्रत की शुभकामनाएँ।
छठ व्रत की शुभकामनाएँ।
Anil Mishra Prahari
पेंशन
पेंशन
Sanjay ' शून्य'
*तजकिरातुल वाकियात* (पुस्तक समीक्षा )
*तजकिरातुल वाकियात* (पुस्तक समीक्षा )
Ravi Prakash
महबूबा
महबूबा
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
गीत - जीवन मेरा भार लगे - मात्रा भार -16x14
गीत - जीवन मेरा भार लगे - मात्रा भार -16x14
Mahendra Narayan
3015.*पूर्णिका*
3015.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
पल-पल यू मरना
पल-पल यू मरना
The_dk_poetry
मेरी माटी मेरा देश
मेरी माटी मेरा देश
नूरफातिमा खातून नूरी
नए मौसम की चका चोंध में देश हमारा किधर गया
नए मौसम की चका चोंध में देश हमारा किधर गया
कवि दीपक बवेजा
यदि सफलता चाहते हो तो सफल लोगों के दिखाए और बताए रास्ते पर च
यदि सफलता चाहते हो तो सफल लोगों के दिखाए और बताए रास्ते पर च
dks.lhp
किसी ने अपनी पत्नी को पढ़ाया और पत्नी ने पढ़ लिखकर उसके साथ धो
किसी ने अपनी पत्नी को पढ़ाया और पत्नी ने पढ़ लिखकर उसके साथ धो
ruby kumari
आफ़ताब
आफ़ताब
Atul "Krishn"
तानाशाह के मन में कोई बड़ा झाँसा पनप रहा है इन दिनों। देशप्र
तानाशाह के मन में कोई बड़ा झाँसा पनप रहा है इन दिनों। देशप्र
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
जिन्हें बुज़ुर्गों की बात
जिन्हें बुज़ुर्गों की बात
*प्रणय प्रभात*
राम छोड़ ना कोई हमारे..
राम छोड़ ना कोई हमारे..
Vijay kumar Pandey
-- गुरु --
-- गुरु --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
"मंजर"
Dr. Kishan tandon kranti
उनको मंजिल कहाँ नसीब
उनको मंजिल कहाँ नसीब
Mrs PUSHPA SHARMA {पुष्पा शर्मा अपराजिता}
आया बाढ नग पहाड़ पे🌷✍️
आया बाढ नग पहाड़ पे🌷✍️
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
World Earth Day
World Earth Day
Tushar Jagawat
जीभ/जिह्वा
जीभ/जिह्वा
लक्ष्मी सिंह
Loading...