Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Sep 2016 · 1 min read

जारी है

अस्मत इनकी तार -तार करना जारी है
रूह इक पर अनगिनत जिस्म पुजारी है
आत्म नर पिशाचों का गंदगी में खो गया
खेल जो परदें के पीछें नारी यहीं हारी है

Language: Hindi
69 Likes · 325 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from DR.MDHU TRIVEDI
View all
You may also like:
गीत नए गाने होंगे
गीत नए गाने होंगे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बकरी
बकरी
ganjal juganoo
पुस्तक समीक्षा -राना लिधौरी गौरव ग्रंथ
पुस्तक समीक्षा -राना लिधौरी गौरव ग्रंथ
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
ईद मुबारक़ आपको, ख़ुशियों का त्यौहार
ईद मुबारक़ आपको, ख़ुशियों का त्यौहार
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
#ग़ज़ल-
#ग़ज़ल-
*Author प्रणय प्रभात*
क्या यही संसार होगा...
क्या यही संसार होगा...
डॉ.सीमा अग्रवाल
बीज
बीज
Dr.Priya Soni Khare
रहो नहीं ऐसे दूर तुम
रहो नहीं ऐसे दूर तुम
gurudeenverma198
अंतिम इच्छा
अंतिम इच्छा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
अपनी  इबादत  पर  गुरूर  मत  करना.......
अपनी इबादत पर गुरूर मत करना.......
shabina. Naaz
Maine apne samaj me aurto ko tutate dekha hai,
Maine apne samaj me aurto ko tutate dekha hai,
Sakshi Tripathi
अँधेरे रास्ते पर खड़ा आदमी.......
अँधेरे रास्ते पर खड़ा आदमी.......
सिद्धार्थ गोरखपुरी
तन प्रसन्न - व्यायाम से
तन प्रसन्न - व्यायाम से
Sanjay ' शून्य'
अब किसी की याद नहीं आती
अब किसी की याद नहीं आती
Harminder Kaur
💐दुधई💐
💐दुधई💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बचे जो अरमां तुम्हारे दिल में
बचे जो अरमां तुम्हारे दिल में
Ram Krishan Rastogi
ख्वाबों से परहेज़ है मेरा
ख्वाबों से परहेज़ है मेरा "वास्तविकता रूह को सुकून देती है"
Rahul Singh
जिन्दगी कागज़ की कश्ती।
जिन्दगी कागज़ की कश्ती।
Taj Mohammad
जिन सपनों को पाने के लिए किसी के साथ छल करना पड़े वैसे सपने
जिन सपनों को पाने के लिए किसी के साथ छल करना पड़े वैसे सपने
Paras Nath Jha
ज़ुल्म के ख़िलाफ़
ज़ुल्म के ख़िलाफ़
Shekhar Chandra Mitra
धमकी तुमने दे डाली
धमकी तुमने दे डाली
Shravan singh
पेड़ लगाए पास में, धरा बनाए खास
पेड़ लगाए पास में, धरा बनाए खास
जगदीश लववंशी
सुविचार
सुविचार
Sarika Dhupar
*कभी अच्छाई पाओगे, मिलेगी कुछ बुराई भी 【मुक्तक 】*
*कभी अच्छाई पाओगे, मिलेगी कुछ बुराई भी 【मुक्तक 】*
Ravi Prakash
आईने में अगर जो
आईने में अगर जो
Dr fauzia Naseem shad
धड़कनो की रफ़्तार यूँ तेज न होती, अगर तेरी आँखों में इतनी दी
धड़कनो की रफ़्तार यूँ तेज न होती, अगर तेरी आँखों में इतनी दी
Vivek Pandey
नमी आंखे....
नमी आंखे....
Naushaba Suriya
वैश्विक जलवायु परिवर्तन और मानव जीवन पर इसका प्रभाव
वैश्विक जलवायु परिवर्तन और मानव जीवन पर इसका प्रभाव
Shyam Sundar Subramanian
करवा चौथ
करवा चौथ
Er. Sanjay Shrivastava
💐प्रेम कौतुक-401💐
💐प्रेम कौतुक-401💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...