Oct 16, 2016 · 1 min read

जागो मेरे हिंदुस्तान ! बहुत हो चुका है अपमान( गीत)पोस्ट २८

जागो मेरे हिंदुस्तान ! बहुत हो चुका है अपमान
****************************गीत**********

तुम सोये तो भाग्य सो गया ,बहुत हो चुका है अपमान।
यह सोने क् समय नहीं है,जागो- जागो हिंदुस्तान ।।

जैसे दिनकर के चलने से होता आया दिव्य प्रकाश ।
चलते रहने से समाज का होता आया नित्य विकाश ।
अत: बढ़ो अब आगे- आगे करो जगत् का तुम कल्याण
यह सोने का समय नहीं है,जागो – जागो हिंदुस्तान ।।

मातृभूमि का आराधन हो, बढ़े सैन्यबल, कोषागार ।
भाषाएँ, संस्कृति हों उन्नत ,अर्थ- व्यवस्था और व्यापार
हो अनुशासन तथा सुशासन , विकसित भारत का निर्माण।
यह सोने का समय नहीं है, जाजागो- जागो हिंदुस्तान ।।

भारतमें घुसपैठ बंद हो, यह नष्ट हो आतंकवाद।आतंकवाद।
बहुत समय हो गया नष्ट हो है , व्यर्थव्यर्थ कुतर्कयह वादविवाद ।
अब जवाब देना ही होगा , सीमाओं पर हो प्रस्थान ।
यह सोने का समय नहीं है, जागो – जागो मेरे हिंदुस्तान।।
—– जितेंद्रकमलआनंद

1 Comment · 174 Views
You may also like:
"क़तरा"
Ajit Kumar "Karn"
समंदर की चेतावनी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग३]
Anamika Singh
सालो लग जाती है रूठे को मानने में
Anuj yadav
फिजूल।
Taj Mohammad
सौ प्रतिशत
Dr Archana Gupta
💐💐प्रेम की राह पर-50💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
वो
Shyam Sundar Subramanian
ये दिल मेरा था, अब उनका हो गया
Ram Krishan Rastogi
नैतिकता और सेक्स संतुष्टि का रिलेशनशिप क्या है ?
Deepak Kohli
भारतीय संस्कृति के सेतु आदि शंकराचार्य
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कविता क्या है ?
Ram Krishan Rastogi
हर रोज योग करो
Krishan Singh
* जिंदगी हैं हसीन सौगात *
Dr. Alpa H.
बाबा ब्याह ना देना,,,
Taj Mohammad
💝 जोश जवानी आये हाये 💝
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मेरे बुद्ध महान !
मनोज कर्ण
कलयुग की पहचान
Ram Krishan Rastogi
कलयुग का आरम्भ है।
Taj Mohammad
अब कहां कोई।
Taj Mohammad
स्वेद का, हर कण बताता, है जगत ,आधार तुम से।।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
💐 ग़ुरूर मिट जाएगा💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
*मृदुभाषी श्री ऊदल सिंह जी : शत-शत नमन*
Ravi Prakash
केंचुआ
Buddha Prakash
बेवफाओं के शहर में कुछ वफ़ा कर जाऊं
Ram Krishan Rastogi
मनमीत मेरे
Dr.sima
कुछ भी ना साथ रहता है।
Taj Mohammad
तरसती रहोगी एक झलक पाने को
N.ksahu0007@writer
कहानी को नया मोड़
अरशद रसूल /Arshad Rasool
शायद मैं गलत हूँ...
मनोज कर्ण
Loading...