Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Jul 2016 · 1 min read

ज़िन्दगी गुज़रती होगी

कहीं बंद किवाड़ों में भी आरज़ू सिसकती होगी।
अपने अरमानों को पूरा करने को तरसती होगी।

कुछ बेड़ियां यूं बेवजह ही कायम थी मगर
रह रहकर उनमें बगावत सी मचलती होगी।

कैसे कह दोगे नहीं गुजाइंश थी कोई मुनासिब
वो कौन खुशबू है जो न कहीं महकती होगी।

था वास्ता इक अंजानी सी आस का इस कदर
पर अश्कों से पल पल ज़िन्दगी गुज़रती होगी।।।
कामनी गुप्ता ***

3 Comments · 386 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
जो मनुष्य सिर्फ अपने लिए जीता है,
जो मनुष्य सिर्फ अपने लिए जीता है,
नेताम आर सी
मन में संदिग्ध हो
मन में संदिग्ध हो
Rituraj shivem verma
बहाव के विरुद्ध कश्ती वही चला पाते जिनका हौसला अंबर की तरह ब
बहाव के विरुद्ध कश्ती वही चला पाते जिनका हौसला अंबर की तरह ब
Dr.Priya Soni Khare
2413.पूर्णिका
2413.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
तुम नादानं थे वक्त की,
तुम नादानं थे वक्त की,
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
जो बीत गया उसे जाने दो
जो बीत गया उसे जाने दो
अनूप अम्बर
उज्जैन घटना
उज्जैन घटना
Rahul Singh
गम ए हकीकी का कारण न पूछीय,
गम ए हकीकी का कारण न पूछीय,
Deepak Baweja
लम्हा भर है जिंदगी
लम्हा भर है जिंदगी
Dr. Sunita Singh
एक जिद मन में पाल रखी है,कि अपना नाम बनाना है
एक जिद मन में पाल रखी है,कि अपना नाम बनाना है
पूर्वार्थ
*सहकारी युग (हिंदी साप्ताहिक), रामपुर, उत्तर प्रदेश का प्रथम
*सहकारी युग (हिंदी साप्ताहिक), रामपुर, उत्तर प्रदेश का प्रथम
Ravi Prakash
कहने को तो इस जहां में अपने सब हैं ,
कहने को तो इस जहां में अपने सब हैं ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
"काला पानी"
Dr. Kishan tandon kranti
बस यूं ही
बस यूं ही
MSW Sunil SainiCENA
अखंड भारत
अखंड भारत
विजय कुमार अग्रवाल
'आभार' हिन्दी ग़ज़ल
'आभार' हिन्दी ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
नए दौर का भारत
नए दौर का भारत
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
पत्ते बिखरे, टूटी डाली
पत्ते बिखरे, टूटी डाली
Arvind trivedi
🚩साल नूतन तुम्हें प्रेम-यश-मान दे।
🚩साल नूतन तुम्हें प्रेम-यश-मान दे।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
"व्यक्ति जब अपने अंदर छिपी हुई शक्तियों के स्रोत को जान लेता
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
बाबागिरी
बाबागिरी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
सफलता का मार्ग
सफलता का मार्ग
Praveen Sain
जो खास है जीवन में उसे आम ना करो।
जो खास है जीवन में उसे आम ना करो।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
समझा दिया
समझा दिया
sushil sarna
छप्पय छंद विधान सउदाहरण
छप्पय छंद विधान सउदाहरण
Subhash Singhai
सुख मेरा..!
सुख मेरा..!
Hanuman Ramawat
"उड़ान"
Yogendra Chaturwedi
*दिल में  बसाई तस्वीर है*
*दिल में बसाई तस्वीर है*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
#पितृदोष_मुक्ति_योजना😊😊
#पितृदोष_मुक्ति_योजना😊😊
*Author प्रणय प्रभात*
💐प्रेम कौतुक-353💐
💐प्रेम कौतुक-353💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...