Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Aug 2023 · 1 min read

ज़िंदगी से शिकायत

जिस दिन आप ज़िदगी से
लेने के विपरीत ज़िंदगी को
देना सीख जाएंगे उस दिन
आपको ज़िंदगी से शिकायत
नहीं रहेगी ।
डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
12 Likes · 405 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
मुहब्बत सचमें ही थी।
मुहब्बत सचमें ही थी।
Taj Mohammad
वो सारी खुशियां एक तरफ लेकिन तुम्हारे जाने का गम एक तरफ लेकि
वो सारी खुशियां एक तरफ लेकिन तुम्हारे जाने का गम एक तरफ लेकि
★ IPS KAMAL THAKUR ★
हॅंसी
हॅंसी
Paras Nath Jha
घमंड की बीमारी बिलकुल शराब जैसी हैं
घमंड की बीमारी बिलकुल शराब जैसी हैं
शेखर सिंह
रिश्ते , प्रेम , दोस्ती , लगाव ये दो तरफ़ा हों ऐसा कोई नियम
रिश्ते , प्रेम , दोस्ती , लगाव ये दो तरफ़ा हों ऐसा कोई नियम
Seema Verma
दिल
दिल
Dr Archana Gupta
दिल नहीं
दिल नहीं
Dr fauzia Naseem shad
" मैं तन्हा हूँ "
Aarti sirsat
"गुनाह कुबूल गए"
Dr. Kishan tandon kranti
🙅आज की बात🙅
🙅आज की बात🙅
*Author प्रणय प्रभात*
गले से लगा ले मुझे प्यार से
गले से लगा ले मुझे प्यार से
Basant Bhagawan Roy
दोपहर जल रही है सड़कों पर
दोपहर जल रही है सड़कों पर
Shweta Soni
23, मायके की याद
23, मायके की याद
Dr Shweta sood
मैं नारी हूं
मैं नारी हूं
Anamika Tiwari 'annpurna '
नहीं जाती तेरी याद
नहीं जाती तेरी याद
gurudeenverma198
सधे कदम
सधे कदम
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
चूड़ियाँ
चूड़ियाँ
लक्ष्मी सिंह
*जिनके मन में माँ बसी , उनमें बसते राम (कुंडलिया)*
*जिनके मन में माँ बसी , उनमें बसते राम (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
यादें
यादें
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
सच्ची प्रीत
सच्ची प्रीत
Dr. Upasana Pandey
चेहरे का यह सबसे सुन्दर  लिबास  है
चेहरे का यह सबसे सुन्दर लिबास है
Anil Mishra Prahari
*आशाओं के दीप*
*आशाओं के दीप*
Harminder Kaur
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
उसने कहा....!!
उसने कहा....!!
Kanchan Khanna
"ओस की बूंद"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
गौभक्त और संकट से गुजरते गाय–बैल / मुसाफ़िर बैठा
गौभक्त और संकट से गुजरते गाय–बैल / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
,✍️फरेब:आस्तीन के सांप बन गए हो तुम...
,✍️फरेब:आस्तीन के सांप बन गए हो तुम...
पं अंजू पांडेय अश्रु
भ्रष्टाचार
भ्रष्टाचार
Juhi Grover
पायल
पायल
Kumud Srivastava
कविता -दो जून
कविता -दो जून
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
Loading...