Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Jun 2016 · 1 min read

ज़िंदगी का रहा तल्ख़ सा ये सफर

ज़िंदगी का रहा तल्ख़ सा ये सफरु
धूप में भी मिला कब जहां में शजर

दर्द कहते तो कहते किसे हम यहाँ
कर लिया हमने पत्थर का अपना जिगर

आँधियाँ जलजले क्या नहीं था सहा
रोज़ हम पर थे बरपे कहर पर कहर

हाथ की दो लकीरें न वश में रहें
एक किस्मत तो दूजी है अपनी उमर

मौज मस्ती में सब अपनी डूबे हुए
है किसे इस जहां में भी किसकी खबर

लिख दिया जो खुदा ने है उतना ही संग
कौन किसका रहा है सदा हमसफर

गिरगिटों की तरह रंग लेते बदल
पर न आया हमें दोस्तों ये हुनर

कट गयी उम्र हँसते हुए निर्मला
साथ मेरे था प्यारा मेरा हमसफ़र

164 Views
You may also like:
भगतसिंह के चिट्ठी
Shekhar Chandra Mitra
■ कविता / पराक्रम के नाम...!
*Author प्रणय प्रभात*
छोड़ दो बांटना
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
आज़ाद हूं मैं
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
बालिका दिवस
Satish Srijan
“ फेसबुक के दिग्गज ”
DrLakshman Jha Parimal
**चरम सीमा पर अश्लीलता**
गायक और लेखक अजीत कुमार तलवार
*** " नदी तट पर मैं आवारा..!!! " ***
VEDANTA PATEL
नवगीत---- जीवन का आर्तनाद
Sushila Joshi
प्यार जताना न आया
VINOD KUMAR CHAUHAN
प्रियतम
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
** मेरे खुदा **
Swami Ganganiya
पापा
Anamika Singh
बाल कविता: तोता
Rajesh Kumar Arjun
चाँद पर खाक डालने से क्या होगा
shabina. Naaz
जागो राजू, जागो...
मनोज कर्ण
तेरे ख़त
Kaur Surinder
✍️जिगर को सी लिया...!
'अशांत' शेखर
रहमत का वसीला
Dr fauzia Naseem shad
जिंदगी की फरमाइश - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
*लड्डू फोड़ने को चल पड़े (गीतिका)*
Ravi Prakash
जंजीरों मे जकड़े लोगो
विनोद सिल्ला
विकसित भारत का लक्ष्य India@2047 । अभिषेक श्रीवास्तव ‘शिवा’
Abhishek Shrivastava "Shivaji"
गीत
Shiva Awasthi
वो इश्क है किस काम का
Ram Krishan Rastogi
💐रे मनुष्य💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
💐💐मेरे हिस्से में.........💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
चिता की अग्नि ने।
Taj Mohammad
उड़ान
Saraswati Bajpai
अजनबी
लक्ष्मी सिंह
Loading...