Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Aug 2023 · 1 min read

******जय श्री खाटूश्याम जी की*******

******जय श्री खाटूश्याम जी की*******
*********************************

हम खुश हैँ हमारे यहाँ खाटूश्याम पधारे हैँ।
पुलकित हर्षित तन-मन हमारे वारे न्यारे हैँ।

खाटू की गोदी मे बाबा श्याम का बसेरा है,
हो रोशन वहाँ जा कर मिट जाता अंधेरा है,
मोर्वीनन्दन श्याम धणी दीनों के सहारे हैँ।
हम खुश है हमारे यहाँ खाटूश्याम पधारे हैँ।

दुखियों का दुख हरने कलयुग में है आया,
शीश का महादानी सुख-दुख का सरमाया,
निज कर कमलों से सोये नसीब निखारे हैँ।
हम खुश है हमारे यहाँ खाटूश्याम पधारे हैँ।

मोह माया के बन्धन से नाता है तोड़ लिया,
तीन बाण धारी सांवरे से नाता जोड़ लिया,
तुम से ही जीवन मेरा चढ़ा महल चुबारे हैँ।
हम खुश है हमारे यहाँ खाटूश्याम पधारे है।

शाम सवेरे मै तो जय श्री श्याम जाप करूँ,
हर पल मन ही मन श्याम साँवरा नाम धरूँ,
खाटूनरेश ने दे दर्शन मन में मैल निखारे हैँ।
हम खुश हैँ हमारे यहाँ खाटूश्याम पधारे हैं।

खाटू वाले श्याम की नीले घोड़े की सवारी,
केशव चंदन से तिलक बढ़ी शोभा निराली,
काम अटके अगर मेरा तेरी और निहारे हैँ।
हम खुश हैँ हमारे यहाँ खाटूश्याम पधारे हैँ।

तेरे दर चल कर आया मनसीरत सवाली,
खुशियों से है भर दी झौली थी मेरी खाली,
डूबों को यहाँ आ कर मिल गये किनारें हैँ।
हम खुश हैँ हमारे यहाँ खाटूश्याम पधारे हैँ।

हम खुश है हमारे यहाँ खाटूश्याम पधारे हैँ।
पुलकित हर्षित तन-मन हमारे वारे न्यारे हैँ।
*********************************
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
खेडी राओ वाली (कैथल)

454 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बात
बात
Ajay Mishra
23/54.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/54.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
Life
Life
Neelam Sharma
जज्बात लिख रहा हूॅ॑
जज्बात लिख रहा हूॅ॑
VINOD CHAUHAN
गुस्सा
गुस्सा
Sûrëkhâ
दीवाली
दीवाली
Mukesh Kumar Sonkar
उड़ रहा खग पंख फैलाए गगन में।
उड़ रहा खग पंख फैलाए गगन में।
surenderpal vaidya
मैं और सिर्फ मैं ही
मैं और सिर्फ मैं ही
Lakhan Yadav
उसका अपना कोई
उसका अपना कोई
Dr fauzia Naseem shad
क्यों ज़रूरी है स्कूटी !
क्यों ज़रूरी है स्कूटी !
Rakesh Bahanwal
पल पल रंग बदलती है दुनिया
पल पल रंग बदलती है दुनिया
Ranjeet kumar patre
ऐसे हंसते रहो(बाल दिवस पर)
ऐसे हंसते रहो(बाल दिवस पर)
gurudeenverma198
भोर
भोर
Kanchan Khanna
कोशिश करके हार जाने का भी एक सुख है
कोशिश करके हार जाने का भी एक सुख है
पूर्वार्थ
हे मेरे प्रिय मित्र
हे मेरे प्रिय मित्र
कृष्णकांत गुर्जर
खेल खेल में छूट न जाए जीवन की ये रेल।
खेल खेल में छूट न जाए जीवन की ये रेल।
सत्य कुमार प्रेमी
सिलसिला रात का
सिलसिला रात का
Surinder blackpen
वेलेंटाइन डे रिप्रोडक्शन की एक प्रेक्टिकल क्लास है।
वेलेंटाइन डे रिप्रोडक्शन की एक प्रेक्टिकल क्लास है।
Rj Anand Prajapati
कौसानी की सैर
कौसानी की सैर
नवीन जोशी 'नवल'
उपेक्षित फूल
उपेक्षित फूल
SATPAL CHAUHAN
संघर्ष हमारा जीतेगा,
संघर्ष हमारा जीतेगा,
Shweta Soni
*नमस्तुभ्यं! नमस्तुभ्यं! रिपुदमन नमस्तुभ्यं!*
*नमस्तुभ्यं! नमस्तुभ्यं! रिपुदमन नमस्तुभ्यं!*
Poonam Matia
नींद आज नाराज हो गई,
नींद आज नाराज हो गई,
Vindhya Prakash Mishra
“फेसबूक का व्यक्तित्व”
“फेसबूक का व्यक्तित्व”
DrLakshman Jha Parimal
#आंखें_खोलो_अभियान
#आंखें_खोलो_अभियान
*प्रणय प्रभात*
सत्य शुरू से अंत तक
सत्य शुरू से अंत तक
विजय कुमार अग्रवाल
मैं एक पल हूँ
मैं एक पल हूँ
Swami Ganganiya
खरी - खरी
खरी - खरी
Mamta Singh Devaa
राजाधिराज महाकाल......
राजाधिराज महाकाल......
Kavita Chouhan
राम का न्याय
राम का न्याय
Shashi Mahajan
Loading...