Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Jul 2023 · 1 min read

जय भोलेनाथ

जय भोलेनाथ

कृपासिन्धु ,तुम पालनकर्ता, अपना मुख मत फेरो
कण-कण पर तुम हे शिव-शंकर,जीवन-ज्योत बिखेरो।
a m prahari

220 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Anil Mishra Prahari
View all
You may also like:
"मुश्किल वक़्त और दोस्त"
Lohit Tamta
इन आँखों ने उनसे चाहत की ख़्वाहिश की है,
इन आँखों ने उनसे चाहत की ख़्वाहिश की है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
2994.*पूर्णिका*
2994.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
दो शब्द ढूँढ रहा था शायरी के लिए,
दो शब्द ढूँढ रहा था शायरी के लिए,
Shashi Dhar Kumar
अपने किरदार में
अपने किरदार में
Dr fauzia Naseem shad
Gratitude Fills My Heart Each Day!
Gratitude Fills My Heart Each Day!
R. H. SRIDEVI
तुम नादानं थे वक्त की,
तुम नादानं थे वक्त की,
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
देवमूर्ति से परे मुक्तिबोध का अक्स / MUSAFIR BAITHA
देवमूर्ति से परे मुक्तिबोध का अक्स / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
जेठ की दुपहरी में
जेठ की दुपहरी में
Shweta Soni
बुगुन लियोसिचला Bugun leosichla
बुगुन लियोसिचला Bugun leosichla
Mohan Pandey
तुम गए कहाँ हो 
तुम गए कहाँ हो 
Amrita Shukla
यादों के गुलाब
यादों के गुलाब
Neeraj Agarwal
Milo kbhi fursat se,
Milo kbhi fursat se,
Sakshi Tripathi
🙅अजब संयोग🙅
🙅अजब संयोग🙅
*प्रणय प्रभात*
*नारी है अबला नहीं, नारी शक्ति-स्वरूप (कुंडलिया)*
*नारी है अबला नहीं, नारी शक्ति-स्वरूप (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
"दलबदलू"
Dr. Kishan tandon kranti
दूरियां अब सिमटती सब जा रही है।
दूरियां अब सिमटती सब जा रही है।
surenderpal vaidya
बेरोजगार लड़के
बेरोजगार लड़के
पूर्वार्थ
निरीह गौरया
निरीह गौरया
Dr.Pratibha Prakash
सब कुछ पा लेने की इच्छा ही तृष्णा है और कृपापात्र प्राणी ईश्
सब कुछ पा लेने की इच्छा ही तृष्णा है और कृपापात्र प्राणी ईश्
Sanjay ' शून्य'
तेवरी को विवादास्पद बनाने की मुहिम +रमेशराज
तेवरी को विवादास्पद बनाने की मुहिम +रमेशराज
कवि रमेशराज
अनुभूति, चिन्तन तथा अभिव्यक्ति की त्रिवेणी ... “ हुई हैं चाँद से बातें हमारी “.
अनुभूति, चिन्तन तथा अभिव्यक्ति की त्रिवेणी ... “ हुई हैं चाँद से बातें हमारी “.
Dr Archana Gupta
dream of change in society
dream of change in society
Desert fellow Rakesh
तेरे पास आए माँ तेरे पास आए
तेरे पास आए माँ तेरे पास आए
Basant Bhagawan Roy
मुक्तक -
मुक्तक -
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
...
...
Ravi Yadav
जिंदगी के तूफानों में हर पल चिराग लिए फिरता हूॅ॑
जिंदगी के तूफानों में हर पल चिराग लिए फिरता हूॅ॑
VINOD CHAUHAN
द्रोपदी फिर.....
द्रोपदी फिर.....
Kavita Chouhan
सफर है! रात आएगी
सफर है! रात आएगी
Saransh Singh 'Priyam'
"मेरे तो प्रभु श्रीराम पधारें"
राकेश चौरसिया
Loading...