Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Dec 2022 · 1 min read

खालीपन

जब भी हमे अपने आपको खालीपन लगता है,
तो तेरा नाम याद कर लेते है!
बस तेरे नाम से ही तेरी चेहरे की मुस्कराहट की,
विजिवलस याद आने लगते है !!
जिससे मेरी पूरी खालीपन दूर हो जाती है,
और वहीं से खुशभरी जिंदगी लगने लगते है!!!
————————०००————————-
कवि : जय लगन कुमार हैप्पी

Language: Hindi
Tag: शेर
141 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
किसको फुर्सत है रखी, किसको रोता कौन (हास्य कुंडलिया)
किसको फुर्सत है रखी, किसको रोता कौन (हास्य कुंडलिया)
Ravi Prakash
We make Challenges easy and
We make Challenges easy and
Bhupendra Rawat
स्वामी विवेकानंद
स्वामी विवेकानंद
मनोज कर्ण
(12) भूख
(12) भूख
Kishore Nigam
एक ख्वाब सजाया था मैंने तुमको सोचकर
एक ख्वाब सजाया था मैंने तुमको सोचकर
डॉ. दीपक मेवाती
2357.पूर्णिका
2357.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
#justareminderekabodhbalak
#justareminderekabodhbalak
DR ARUN KUMAR SHASTRI
सियासत
सियासत
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
ये आप पर है कि ज़िंदगी कैसे जीते हैं,
ये आप पर है कि ज़िंदगी कैसे जीते हैं,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
होली
होली
नूरफातिमा खातून नूरी
मन मंथन कर ले एकांत पहर में
मन मंथन कर ले एकांत पहर में
Neelam Sharma
"सिक्का"
Dr. Kishan tandon kranti
यह तो हम है जो कि, तारीफ तुम्हारी करते हैं
यह तो हम है जो कि, तारीफ तुम्हारी करते हैं
gurudeenverma198
चंद अशआर
चंद अशआर
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
पहाड़ों की हंसी ठिठोली
पहाड़ों की हंसी ठिठोली
Shankar N aanjna
देखिए रिश्ते जब ज़ब मजबूत होते है
देखिए रिश्ते जब ज़ब मजबूत होते है
शेखर सिंह
कर्म से विश्वाश जन्म लेता है,
कर्म से विश्वाश जन्म लेता है,
Sanjay ' शून्य'
दिल को लगाया है ,तुझसे सनम ,   रहेंगे जुदा ना ,ना  बिछुड़ेंगे
दिल को लगाया है ,तुझसे सनम , रहेंगे जुदा ना ,ना बिछुड़ेंगे
DrLakshman Jha Parimal
दर्द को मायूस करना चाहता हूँ
दर्द को मायूस करना चाहता हूँ
Sanjay Narayan
भारत का चाँद…
भारत का चाँद…
Anand Kumar
*हनुमान के राम*
*हनुमान के राम*
Kavita Chouhan
क्या कर लेगा कोई तुम्हारा....
क्या कर लेगा कोई तुम्हारा....
Suryakant Dwivedi
#कैसी_कही
#कैसी_कही
*Author प्रणय प्रभात*
मै स्त्री कभी हारी नही
मै स्त्री कभी हारी नही
dr rajmati Surana
गांधी का अवतरण नहीं होता 
गांधी का अवतरण नहीं होता 
Dr. Pradeep Kumar Sharma
जैसी नीयत, वैसी बरकत! ये सिर्फ एक लोकोक्ति ही नहीं है, ब्रह्
जैसी नीयत, वैसी बरकत! ये सिर्फ एक लोकोक्ति ही नहीं है, ब्रह्
विमला महरिया मौज
दाना
दाना
Satish Srijan
शिष्टाचार
शिष्टाचार
लक्ष्मी सिंह
वंदेमातरम
वंदेमातरम
Bodhisatva kastooriya
माना जीवन लघु बहुत,
माना जीवन लघु बहुत,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Loading...