Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Jul 2016 · 1 min read

जबसे तुझे जाना है,चाहा है

जबसे तुझे जाना है , चाहा है
तुझे अपना ख़ुदा मैंने माना है

तू न बन बेख़बर मेरी जाँना
बचपन से हूँ मैं तेरा दीवाना
तू साथ है तो नहीं कोई ग़म
चाहत की दरिया में डूब जाना है
जबसे तुझे जाना है , चाहा है …….. 1

दे जगह जुल्फों की घनेरी छाँव में
ले चल मुझे तू प्रेम के नगर में
ज़िन्दगी हैं जीना तुम्हारे साथ में
तेरे दिल को मंदिर बनाना है
जबसे तुझे जाना है , चाहा है …….. 2

ढूँढ़ती है निगाहें बस तेरा’चेहरा
सागर से भी गहरा प्यार हमारा
हमसफ़र ज़िन्दगी के हर सफर में
तेरा हाथ थाम सदा चलना है
जबसे तुझे जाना है , चाहा है …….. 3

हिरनी जैसी है तेरी आँखे
कोयल सी मधुर तेरी बातें
तू ही ज़िन्दगी की तमन्ना है
तू ही ज़िन्दगी का अफसाना है
जबसे तुझे जाना है , चाहा है …….. 4

भूल से भी न भूलु मैं तुझे
मैं बसा लू धड़कन में तुझे
न रहो दूर तुम खफा हो के
दर्द जुदाई अब न सहना है
जबसे तुझे जाना है , चाहा है …….. 5

Language: Hindi
Tag: गीत
303 Views
You may also like:
"आओ हम सब मिल कर गाएँ भारत माँ के गान"
Lohit Tamta
*!* कच्ची बुनियाद जिन्दगी की *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
*दीपक (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
✍️इरादे हो तूफाँ के✍️
'अशांत' शेखर
हादसा जब कोई
Dr fauzia Naseem shad
घर आवाज़ लगाता है
Kaur Surinder
पूछ रहा है मन का दर्पण
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
■ आग लगाऊ मीडिया
*Author प्रणय प्रभात*
हट जा हट जा भाल से रेखा
सूर्यकांत द्विवेदी
जीवन अनमोल है।
जगदीश लववंशी
*मय या मयखाना*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
राधा-कृष्ण के प्यार
Shekhar Chandra Mitra
चित्रगुप्त पूजन
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
बिहार का जालियांवाला बाग - तारापुर
विक्रम कुमार
क्यों भावनाएं भड़काते हो?
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
💐💐तुम्हारे साथ की जरूरत है💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बरसात की झड़ी ।
Buddha Prakash
मैथिली भाषाक मुक्तक / शायरी
Binit Thakur (विनीत ठाकुर)
वह प्यार कैसा होगा
Anamika Singh
एक जवानी थी
Varun Singh Gautam
*నమో గణేశ!*
विजय कुमार 'विजय'
आजादी का दौर
Seema 'Tu hai na'
“LOVELY FRIEND”
DrLakshman Jha Parimal
बारिश का मौसम
विजय कुमार अग्रवाल
पुस्तक समीक्षा-----
राकेश चौरसिया
उठो युवा तुम उठो ऐसे/Uthao youa tum uthao aise
Shivraj Anand
निःशक्त, गरीब और यतीम को
gurudeenverma198
निगहबानी।
Taj Mohammad
ईद अल अजहा
Awadhesh Saxena
इक्यावन इन्द्रधनुषी ग़ज़लें
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Loading...