Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Jan 2024 · 1 min read

जन जन फिर से तैयार खड़ा कर रहा राम की पहुनाई।

जन जन फिर से तैयार खड़ा कर रहा राम की पहुनाई।
मन भाव भक्ति बिहवल होकर गा रहा राम की चौपाई।।
बनवास काट कर श्री राघव सिय लखन सहित कौशल आए।
सोया भारत फिर जाग रहा ले रहा सनातन अंगड़ाई।।
🌹जय श्री राम🌹

1 Like · 140 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
2674.*पूर्णिका*
2674.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
कट गई शाखें, कट गए पेड़
कट गई शाखें, कट गए पेड़
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
My Expressions
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
“कब मानव कवि बन जाता हैं ”
“कब मानव कवि बन जाता हैं ”
Rituraj shivem verma
*चाय भगोने से बाहर यदि, आ जाए तो क्या कहने 【हास्य हिंदी गजल/
*चाय भगोने से बाहर यदि, आ जाए तो क्या कहने 【हास्य हिंदी गजल/
Ravi Prakash
■ आज का शेर अपने यक़ीन के नाम।
■ आज का शेर अपने यक़ीन के नाम।
*Author प्रणय प्रभात*
हम शरीर हैं, ब्रह्म अंदर है और माया बाहर। मन शरीर को संचालित
हम शरीर हैं, ब्रह्म अंदर है और माया बाहर। मन शरीर को संचालित
Sanjay ' शून्य'
छोड दो उनको उन के हाल पे.......अब
छोड दो उनको उन के हाल पे.......अब
shabina. Naaz
बीते साल को भूल जाए
बीते साल को भूल जाए
Ranjeet kumar patre
चाय कलियुग का वह अमृत है जिसके साथ बड़ी बड़ी चर्चाएं होकर बड
चाय कलियुग का वह अमृत है जिसके साथ बड़ी बड़ी चर्चाएं होकर बड
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
नमस्ते! रीति भारत की,
नमस्ते! रीति भारत की,
Neelam Sharma
फितरत की बातें
फितरत की बातें
Mahendra Narayan
आदमी और मच्छर
आदमी और मच्छर
Kanchan Khanna
दफ़न हो गई मेरी ख्वाहिशे जाने कितने ही रिवाजों मैं,l
दफ़न हो गई मेरी ख्वाहिशे जाने कितने ही रिवाजों मैं,l
गुप्तरत्न
The bestest education one can deliver is  humanity and achie
The bestest education one can deliver is humanity and achie
Nupur Pathak
बेटियाँ
बेटियाँ
विजय कुमार अग्रवाल
सर्दी के हैं ये कुछ महीने
सर्दी के हैं ये कुछ महीने
Atul "Krishn"
भारत माता की संतान
भारत माता की संतान
Ravi Yadav
" कृषक की व्यथा "
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
मां जैसा ज्ञान देते
मां जैसा ज्ञान देते
Harminder Kaur
एक संदेश बुनकरों के नाम
एक संदेश बुनकरों के नाम
Dr.Nisha Wadhwa
सोहनी-महिवाल
सोहनी-महिवाल
Shekhar Chandra Mitra
तुझे खुश देखना चाहता था
तुझे खुश देखना चाहता था
Kumar lalit
फितरत
फितरत
Srishty Bansal
जो माता पिता के आंखों में आसूं लाए,
जो माता पिता के आंखों में आसूं लाए,
ओनिका सेतिया 'अनु '
ऑन लाइन पेमेंट
ऑन लाइन पेमेंट
Satish Srijan
आरुष का गिटार
आरुष का गिटार
shivanshi2011
जय माँ जगदंबे 🙏
जय माँ जगदंबे 🙏
डॉ.सीमा अग्रवाल
क़दर करना क़दर होगी क़दर से शूल फूलों में
क़दर करना क़दर होगी क़दर से शूल फूलों में
आर.एस. 'प्रीतम'
देखिए रिश्ते जब ज़ब मजबूत होते है
देखिए रिश्ते जब ज़ब मजबूत होते है
शेखर सिंह
Loading...