Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Oct 2023 · 1 min read

जनता के हिस्से सिर्फ हलाहल

पांच राज्यों में चुनावी माहौल
हर राजनीतिक दल में जारी है कोलाहल
जनता के हिस्से सिर्फ हलाहल

सियासी दल चाहें जिताऊ प्रत्याशी
भविष्य निर्माण को नेताओं में अजब फंताशी
जीतकर बरसाएंगे रेत से धनराशि

महफिलों में भरोसे का वादा
सौदेबाजी में मस्त हैं राजनीतिक ओढ़े लबादा
विकास योजनाएं औंधे मुंह ज्यादा

धन्नासेठों के मन में आकुलता
निवेश से पहले परखें प्रत्याशी की क्षमता
डूबेंगे या उबरेंगे जाने नियंता

गली गली नारों का शोर
चिंटुओं की फौज नाचती जैसे मदमस्त मोर
बिरयानी खोजने वाले लपकें कौर

Language: Hindi
109 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
नैया फसी मैया है बीच भवर
नैया फसी मैया है बीच भवर
Basant Bhagawan Roy
फितरती फलसफा
फितरती फलसफा
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
हकीकत पर एक नजर
हकीकत पर एक नजर
पूनम झा 'प्रथमा'
23/201. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/201. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
अप्प दीपो भव
अप्प दीपो भव
Shekhar Chandra Mitra
*वानर-सेना (बाल कविता)*
*वानर-सेना (बाल कविता)*
Ravi Prakash
” सबको गीत सुनाना है “
” सबको गीत सुनाना है “
DrLakshman Jha Parimal
नारी अस्मिता
नारी अस्मिता
Shyam Sundar Subramanian
दिखा दूंगा जहाँ को जो मेरी आँखों ने देखा है!!
दिखा दूंगा जहाँ को जो मेरी आँखों ने देखा है!!
पूर्वार्थ
दैनिक जीवन में सब का तू, कर सम्मान
दैनिक जीवन में सब का तू, कर सम्मान
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
पता नहीं किसने
पता नहीं किसने
Anil Mishra Prahari
नीला सफेद रंग सच और रहस्य का सहयोग हैं
नीला सफेद रंग सच और रहस्य का सहयोग हैं
Neeraj Agarwal
सैनिक के संग पूत भी हूँ !
सैनिक के संग पूत भी हूँ !
पाण्डेय चिदानन्द "चिद्रूप"
वीर पुत्र, तुम प्रियतम
वीर पुत्र, तुम प्रियतम
संजय कुमार संजू
जाकर वहाँ मैं क्या करुँगा
जाकर वहाँ मैं क्या करुँगा
gurudeenverma198
वो राह देखती होगी
वो राह देखती होगी
Kavita Chouhan
पल-पल यू मरना
पल-पल यू मरना
The_dk_poetry
माँ की कहानी बेटी की ज़ुबानी
माँ की कहानी बेटी की ज़ुबानी
Rekha Drolia
वो नौजवान राष्ट्रधर्म के लिए अड़ा रहा !
वो नौजवान राष्ट्रधर्म के लिए अड़ा रहा !
जगदीश शर्मा सहज
कर्मठ व्यक्ति की सहनशीलता ही धैर्य है, उसके द्वारा किया क्षम
कर्मठ व्यक्ति की सहनशीलता ही धैर्य है, उसके द्वारा किया क्षम
Sanjay ' शून्य'
ज़िंदगी ख़ुद ब ख़ुद
ज़िंदगी ख़ुद ब ख़ुद
Dr fauzia Naseem shad
रुख़सारों की सुर्खियाँ,
रुख़सारों की सुर्खियाँ,
sushil sarna
Dr अरुण कुमार शास्त्री
Dr अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बखान सका है कौन
बखान सका है कौन
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
उसने किरदार ठीक से नहीं निभाया अपना
उसने किरदार ठीक से नहीं निभाया अपना
कवि दीपक बवेजा
"खुदा याद आया"
Dr. Kishan tandon kranti
#वंदन_अभिनंदन
#वंदन_अभिनंदन
*Author प्रणय प्रभात*
महायोद्धा टंट्या भील के पदचिन्हों पर चलकर महेंद्र सिंह कन्नौज बने मुफलिसी आवाम की आवाज: राकेश देवडे़ बिरसावादी
महायोद्धा टंट्या भील के पदचिन्हों पर चलकर महेंद्र सिंह कन्नौज बने मुफलिसी आवाम की आवाज: राकेश देवडे़ बिरसावादी
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
आँखों में उसके बहते हुए धारे हैं,
आँखों में उसके बहते हुए धारे हैं,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
पेड़ लगाओ पर्यावरण बचाओ
पेड़ लगाओ पर्यावरण बचाओ
Buddha Prakash
Loading...