Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Jun 2023 · 1 min read

जनता का भरोसा

गैरत भी नीलाम कर दी
ज़मीर तक बेच दिया!
झूठी दौलत की हवस में
फ़कीर तक बेच दिया!
आख़िर तुम्हारी बातों पर
हम कैसे यक़ीन करें!
तुमने तो अपने भीतर का
कबीर तक बेच दिया!
#नेता #सरकार #मंत्री #पर्दाफाश
#सत्ता #भ्रष्ट #बेईमान #बेनकाब
#भंडाफोड़ #पोलखोल #हल्लाबोल
#expose #राजनीतिक #जनता

Language: Hindi
2 Likes · 1 Comment · 494 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
(15)
(15) " वित्तं शरणं " भज ले भैया !
Kishore Nigam
औरत की अभिलाषा
औरत की अभिलाषा
Rachana
मजदूर
मजदूर
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
👌🏼वक़्त का तक़ाज़ा👌
👌🏼वक़्त का तक़ाज़ा👌
*प्रणय प्रभात*
मेरी ज़िंदगी की खुशियां
मेरी ज़िंदगी की खुशियां
Dr fauzia Naseem shad
तितली
तितली
Dr. Pradeep Kumar Sharma
तुम वादा करो, मैं निभाता हूँ।
तुम वादा करो, मैं निभाता हूँ।
अजहर अली (An Explorer of Life)
मेरा वजूद क्या
मेरा वजूद क्या
भरत कुमार सोलंकी
मैंने अपनी, खिडकी से,बाहर जो देखा वो खुदा था, उसकी इनायत है सबसे मिलना, मैं ही खुद उससे जुदा था.
मैंने अपनी, खिडकी से,बाहर जो देखा वो खुदा था, उसकी इनायत है सबसे मिलना, मैं ही खुद उससे जुदा था.
Mahender Singh
रामभक्त शिव (108 दोहा छन्द)
रामभक्त शिव (108 दोहा छन्द)
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
“ भयावह व्हाट्सप्प ”
“ भयावह व्हाट्सप्प ”
DrLakshman Jha Parimal
"शब्दों का संसार"
Dr. Kishan tandon kranti
बुंदेली दोहा प्रतियोगिता-158के चयनित दोहे
बुंदेली दोहा प्रतियोगिता-158के चयनित दोहे
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
वो सांझ
वो सांझ
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
चौकड़िया छंद / ईसुरी छंद , विधान उदाहरण सहित , व छंद से सृजित विधाएं
चौकड़िया छंद / ईसुरी छंद , विधान उदाहरण सहित , व छंद से सृजित विधाएं
Subhash Singhai
किसी के साथ दोस्ती करना और दोस्ती को निभाना, किसी से मुस्कुर
किसी के साथ दोस्ती करना और दोस्ती को निभाना, किसी से मुस्कुर
Anand Kumar
शेर
शेर
Monika Verma
बुढ़ापा
बुढ़ापा
Shyamsingh Lodhi Rajput (Tejpuriya)
The Saga Of That Unforgettable Pain
The Saga Of That Unforgettable Pain
Manisha Manjari
रफ़्ता रफ़्ता (एक नई ग़ज़ल)
रफ़्ता रफ़्ता (एक नई ग़ज़ल)
Vinit kumar
गीत.......✍️
गीत.......✍️
SZUBAIR KHAN KHAN
मेरी प्यारी सासू मां, मैं बहुत खुशनसीब हूं, जो मैंने मां के
मेरी प्यारी सासू मां, मैं बहुत खुशनसीब हूं, जो मैंने मां के
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
युवा दिवस विवेकानंद जयंती
युवा दिवस विवेकानंद जयंती
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
it's a generation of the tired and fluent in silence.
it's a generation of the tired and fluent in silence.
पूर्वार्थ
"मैं सोच रहा था कि तुम्हें पाकर खुश हूं_
Rajesh vyas
कर ले प्यार हरि से
कर ले प्यार हरि से
Satish Srijan
धार तुम देते रहो
धार तुम देते रहो
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
सृजन और पीड़ा
सृजन और पीड़ा
Shweta Soni
तुम्हें लगता है, मैं धोखेबाज हूँ ।
तुम्हें लगता है, मैं धोखेबाज हूँ ।
Dr. Man Mohan Krishna
बादल और बरसात
बादल और बरसात
Neeraj Agarwal
Loading...