Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Feb 2024 · 1 min read

#छंद_शैली_में

#छंद_शैली_में
■ श्री सरस्वती वंदना
【प्रणय प्रभात】
वीणापाणी, पद्मासना, कमलासना, ब्रह्म-अजा,
माँ तू मुझे विद्या औ विनय का शुभ दान दे।
कण्ठ में विराज मेरी क़लम को सिद्धि सौंप,
मेरी इस लेखनी को गति अविराम दे।।

सत्य लिखूँ, सत्यवादिता के पथ पे ही चलूँ,
मेरी स्वर शक्ति को तू सरगमों का ज्ञान दे।
दीप मन-मंदिर में ज्ञान का जला दे मातु,
नित्य नव-सृजन करूँ ये वरदान दे।।

यश नहीं, रूप नहीं तेरी भक्ति चाहता हूँ,
भक्ति-गंगा, ज्ञान-गंगा का ही स्नान दे।
करता नमन तुझे शत-शत शारदा मैं,
मुझे ऐश्वर्य नहीं आन बान शान दे।।

शब्द चुन छंद रचूँ, छंद चुन गीत रचूँ,
गीतों में बहाव माँ तू भावों को वितान दे।
उड़े पंख तान ताकि छुए आसमान,
मेरे मन के मराल को विचारों की उड़ान दे।।
💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐

1 Like · 59 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
💐प्रेम कौतुक-431💐
💐प्रेम कौतुक-431💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बुद्ध के संग अब जाऊँगा ।
बुद्ध के संग अब जाऊँगा ।
Buddha Prakash
◆व्यक्तित्व◆
◆व्यक्तित्व◆
*Author प्रणय प्रभात*
*शिवाजी का आह्वान*
*शिवाजी का आह्वान*
कवि अनिल कुमार पँचोली
जवानी में तो तुमने भी गजब ढाया होगा
जवानी में तो तुमने भी गजब ढाया होगा
Ram Krishan Rastogi
*विश्व योग का दिन पावन, इक्कीस जून को आता(गीत)*
*विश्व योग का दिन पावन, इक्कीस जून को आता(गीत)*
Ravi Prakash
नंगा चालीसा [ रमेशराज ]
नंगा चालीसा [ रमेशराज ]
कवि रमेशराज
जिंदा है धर्म स्त्री से ही
जिंदा है धर्म स्त्री से ही
श्याम सिंह बिष्ट
विरह गीत
विरह गीत
नाथ सोनांचली
पुस्तक समीक्षा -राना लिधौरी गौरव ग्रंथ
पुस्तक समीक्षा -राना लिधौरी गौरव ग्रंथ
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
तेरा इश्क मेरे दिल की दवा है।
तेरा इश्क मेरे दिल की दवा है।
Rj Anand Prajapati
दूर देदो पास मत दो
दूर देदो पास मत दो
Ajad Mandori
नसीहत
नसीहत
Shivkumar Bilagrami
जिन्दगी ....
जिन्दगी ....
sushil sarna
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
मुस्कुराना चाहता हूं।
मुस्कुराना चाहता हूं।
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
तेरे पास आए माँ तेरे पास आए
तेरे पास आए माँ तेरे पास आए
Basant Bhagawan Roy
-------ग़ज़ल-----
-------ग़ज़ल-----
प्रीतम श्रावस्तवी
याद आती है
याद आती है
Er. Sanjay Shrivastava
अब नई सहिबो पूछ के रहिबो छत्तीसगढ़ मे
अब नई सहिबो पूछ के रहिबो छत्तीसगढ़ मे
Ranjeet kumar patre
"सपनों का सफर"
Pushpraj Anant
नारी तेरे रूप अनेक
नारी तेरे रूप अनेक
विजय कुमार अग्रवाल
"सवाल"
Dr. Kishan tandon kranti
नये साल में
नये साल में
Mahetaru madhukar
*मुर्गा की बलि*
*मुर्गा की बलि*
Dushyant Kumar
हंसवाहिनी दो मुझे, बस इतना वरदान।
हंसवाहिनी दो मुझे, बस इतना वरदान।
Jatashankar Prajapati
हज़ारों रंग बदलो तुम
हज़ारों रंग बदलो तुम
shabina. Naaz
असफल कवि
असफल कवि
Shekhar Chandra Mitra
हम
हम
Ankit Kumar
*॥ ॐ नमः शिवाय ॥*
*॥ ॐ नमः शिवाय ॥*
Radhakishan R. Mundhra
Loading...