Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Jul 2023 · 1 min read

चोट ना पहुँचे अधिक, जो वाक़ि’आ हो

चोट ना पहुँचे अधिक, जो वाक़ि’आ हो
चाहता हूँ सबको कुशल, जब हादिसा हो
है कठिन सब मुश्किलों से पार पाना
कोई सूरत तो निकालो, रास्ता हो
हो समझदारी यहाँ विकसित सभी में
फिर किसी से ना ग़लत कुछ वास्ता हो
महावीर उत्तरांचली

1 Like · 249 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
View all
You may also like:
अभी कैसे हिम्मत हार जाऊं मैं ,
अभी कैसे हिम्मत हार जाऊं मैं ,
शेखर सिंह
ନବଧା ଭକ୍ତି
ନବଧା ଭକ୍ତି
Bidyadhar Mantry
हो अंधकार कितना भी, पर ये अँधेरा अनंत नहीं
हो अंधकार कितना भी, पर ये अँधेरा अनंत नहीं
पूर्वार्थ
राजनीति और वोट
राजनीति और वोट
Kumud Srivastava
सावन का महीना
सावन का महीना
विजय कुमार अग्रवाल
गुरु-पूर्णिमा पर...!!
गुरु-पूर्णिमा पर...!!
Kanchan Khanna
*आशाओं के दीप*
*आशाओं के दीप*
Harminder Kaur
माँ सच्ची संवेदना....
माँ सच्ची संवेदना....
डॉ.सीमा अग्रवाल
"पंजे से पंजा लड़ाए बैठे
*Author प्रणय प्रभात*
You are the sanctuary of my soul.
You are the sanctuary of my soul.
Manisha Manjari
हे मानव! प्रकृति
हे मानव! प्रकृति
साहित्य गौरव
हर फूल गुलाब नहीं हो सकता,
हर फूल गुलाब नहीं हो सकता,
Anil Mishra Prahari
चिड़िया चली गगन आंकने
चिड़िया चली गगन आंकने
AMRESH KUMAR VERMA
छोटी-सी मदद
छोटी-सी मदद
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*सकल विश्व में अपनी भाषा, हिंदी की जयकार हो (गीत)*
*सकल विश्व में अपनी भाषा, हिंदी की जयकार हो (गीत)*
Ravi Prakash
ईर्ष्या
ईर्ष्या
Dr. Kishan tandon kranti
उनको असफलता अधिक हाथ लगती है जो सफलता प्राप्त करने के लिए सह
उनको असफलता अधिक हाथ लगती है जो सफलता प्राप्त करने के लिए सह
Rj Anand Prajapati
2549.पूर्णिका
2549.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
तुंग द्रुम एक चारु 🌿☘️🍁☘️
तुंग द्रुम एक चारु 🌿☘️🍁☘️
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
दया समता समर्पण त्याग के आदर्श रघुनंदन।
दया समता समर्पण त्याग के आदर्श रघुनंदन।
जगदीश शर्मा सहज
दीपावली
दीपावली
Deepali Kalra
खालीपन
खालीपन
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
(दम)
(दम)
महेश कुमार (हरियाणवी)
बेगुनाही की सज़ा
बेगुनाही की सज़ा
Shekhar Chandra Mitra
अदब से उतारा होगा रब ने ख्बाव को मेरा,
अदब से उतारा होगा रब ने ख्बाव को मेरा,
Sunil Maheshwari
नन्हा मछुआरा
नन्हा मछुआरा
Shivkumar barman
दुःख हरणी
दुःख हरणी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
दोहे-
दोहे-
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
शाकाहारी
शाकाहारी
डिजेन्द्र कुर्रे
Loading...