Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Jun 2023 · 1 min read

चिड़िया बैठी सोच में, तिनका-तिनका जोड़।

चिड़िया बैठी सोच में, तिनका-तिनका जोड़।
रचूँ नीड़ किस वृक्ष पर, कब मानव दे तोड़।।

सीमा अग्रवाल

Language: Hindi
1 Like · 359 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from डॉ.सीमा अग्रवाल
View all
You may also like:
"लक्की"
Dr Meenu Poonia
Kabhi jo dard ki dawa hua krta tha
Kabhi jo dard ki dawa hua krta tha
Kumar lalit
सपने जब तक पल रहे, उत्साही इंसान【कुंडलिया】
सपने जब तक पल रहे, उत्साही इंसान【कुंडलिया】
Ravi Prakash
जिसने अपने जीवन में दर्द नहीं झेले उसने अपने जीवन में सुख भी
जिसने अपने जीवन में दर्द नहीं झेले उसने अपने जीवन में सुख भी
Rj Anand Prajapati
अन्नदाता
अन्नदाता
Akash Yadav
रंगों  की  बरसात की होली
रंगों की बरसात की होली
Vijay kumar Pandey
हर दिन नया नई उम्मीद
हर दिन नया नई उम्मीद
Dr fauzia Naseem shad
**बात बनते बनते बिगड़ गई**
**बात बनते बनते बिगड़ गई**
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
🌿⚘️प्राचीन  मंदिर (मड़) ककरुआ⚘️🌿
🌿⚘️प्राचीन मंदिर (मड़) ककरुआ⚘️🌿
Ms.Ankit Halke jha
"The Power of Orange"
Manisha Manjari
धर्म जब पैदा हुआ था
धर्म जब पैदा हुआ था
शेखर सिंह
विश्व सिंधु की अविरल लहरों पर
विश्व सिंधु की अविरल लहरों पर
Neelam Sharma
जल प्रदूषण दुःख की है खबर
जल प्रदूषण दुःख की है खबर
Buddha Prakash
सिर्फ विकट परिस्थितियों का सामना
सिर्फ विकट परिस्थितियों का सामना
Anil Mishra Prahari
* राह चुनने का समय *
* राह चुनने का समय *
surenderpal vaidya
💐अज्ञात के प्रति-19💐
💐अज्ञात के प्रति-19💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
विधाता का लेख
विधाता का लेख
rubichetanshukla 781
कैसे एक रिश्ता दरकने वाला था,
कैसे एक रिश्ता दरकने वाला था,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
सिर्फ तुम
सिर्फ तुम
Arti Bhadauria
जो भी मिलता है उससे हम
जो भी मिलता है उससे हम
Shweta Soni
बहुत मुश्किल है दिल से, तुम्हें तो भूल पाना
बहुत मुश्किल है दिल से, तुम्हें तो भूल पाना
gurudeenverma198
Little Things
Little Things
Dhriti Mishra
पावस में करती प्रकृति,
पावस में करती प्रकृति,
Mahendra Narayan
स्वस्थ्य मस्तिष्क में अच्छे विचारों की पूॅजी संकलित रहती है
स्वस्थ्य मस्तिष्क में अच्छे विचारों की पूॅजी संकलित रहती है
Tarun Singh Pawar
"विडम्बना"
Dr. Kishan tandon kranti
बसंत पंचमी
बसंत पंचमी
Mukesh Kumar Sonkar
प्रतिभाशाली या गुणवान व्यक्ति से सम्पर्क
प्रतिभाशाली या गुणवान व्यक्ति से सम्पर्क
Paras Nath Jha
दिहाड़ी मजदूर
दिहाड़ी मजदूर
Satish Srijan
जो चाहने वाले होते हैं ना
जो चाहने वाले होते हैं ना
पूर्वार्थ
कुछ इस तरह से खेला
कुछ इस तरह से खेला
Dheerja Sharma
Loading...