Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Oct 2022 · 1 min read

चांदनी की चादर।

चांदनी की चादर ओढ़कर देखो मेरा घर चमक रहा है।
यूं लगे आज महताब बनकर शबनम इस पर बरस रहा है।।

✍️✍️ ताज मोहम्मद ✍️✍️

Language: Hindi
Tag: शेर
190 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Taj Mohammad
View all
You may also like:
****मैं इक निर्झरिणी****
****मैं इक निर्झरिणी****
Kavita Chouhan
जब  फ़ज़ाओं  में  कोई  ग़म  घोलता है
जब फ़ज़ाओं में कोई ग़म घोलता है
प्रदीप माहिर
चंदा मामा और चंद्रयान
चंदा मामा और चंद्रयान
Ram Krishan Rastogi
Love night
Love night
Bidyadhar Mantry
ठण्डी राख़ - दीपक नीलपदम्
ठण्डी राख़ - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
2725.*पूर्णिका*
2725.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
लगाव का चिराग बुझता नहीं
लगाव का चिराग बुझता नहीं
Seema gupta,Alwar
*
*"मर्यादा पुरूषोत्तम श्री राम"*
Shashi kala vyas
प्रेम
प्रेम
Bodhisatva kastooriya
नमस्कार मित्रो !
नमस्कार मित्रो !
Mahesh Jain 'Jyoti'
मैं तो महज वक्त हूँ
मैं तो महज वक्त हूँ
VINOD CHAUHAN
व्यक्तिगत अभिव्यक्ति
व्यक्तिगत अभिव्यक्ति
Shyam Sundar Subramanian
■चन्दाखोरी कांड■
■चन्दाखोरी कांड■
*प्रणय प्रभात*
सभी गम दर्द में मां सबको आंचल में छुपाती है।
सभी गम दर्द में मां सबको आंचल में छुपाती है।
सत्य कुमार प्रेमी
अपमान
अपमान
Dr Parveen Thakur
मुझे फर्क पड़ता है।
मुझे फर्क पड़ता है।
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
कुछ बीते हुए पल -बीते हुए लोग जब कुछ बीती बातें
कुछ बीते हुए पल -बीते हुए लोग जब कुछ बीती बातें
Atul "Krishn"
औरत की नजर
औरत की नजर
Annu Gurjar
लोग एक दूसरे को परखने में इतने व्यस्त हुए
लोग एक दूसरे को परखने में इतने व्यस्त हुए
ruby kumari
अनकहा रिश्ता (कविता)
अनकहा रिश्ता (कविता)
Monika Yadav (Rachina)
ढाई अक्षर वालों ने
ढाई अक्षर वालों ने
Dr. Kishan tandon kranti
फ़ासला गर
फ़ासला गर
Dr fauzia Naseem shad
झुकाव कर के देखो ।
झुकाव कर के देखो ।
Buddha Prakash
नव वर्ष हमारे आए हैं
नव वर्ष हमारे आए हैं
Er.Navaneet R Shandily
पूछ रही हूं
पूछ रही हूं
Srishty Bansal
कृतघ्न व्यक्ति आप के सत्कर्म को अपकर्म में बदलता रहेगा और आप
कृतघ्न व्यक्ति आप के सत्कर्म को अपकर्म में बदलता रहेगा और आप
Sanjay ' शून्य'
सच तो हम इंसान हैं
सच तो हम इंसान हैं
Neeraj Agarwal
life is an echo
life is an echo
पूर्वार्थ
दुमका संस्मरण 2 ( सिनेमा हॉल )
दुमका संस्मरण 2 ( सिनेमा हॉल )
DrLakshman Jha Parimal
पुलवामा वीरों को नमन
पुलवामा वीरों को नमन
Satish Srijan
Loading...