Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
31 Oct 2016 · 1 min read

चलो हो गयी दीवाली

चलो हो गयी दीवाली

दीवाली से पहले
सोशल मीडिया पर चीनी सामान का बहिष्कार की बातें करने बाले
काफी लोग
दीवाली पर
पहले से रखी लाइट्स का इस्तेमाल करते दिखे
ऑनलाइन शॉपिंग पर चीनी सामान खरीदने का लुत्फ़ लेते मिले
भले ही अपने नाते रश्तेदारों और पड़ोसियों से दिवाली पर बात न की हो
इस बार भी फेसबुक ट्विटर व्हाटप्पस पर खूब मेल लिखे
जिसके पास जितना पैसा था
या कहिये जितना दिखाबा कर सकता था
दिवाली के दिन उतनी अधिक खऱीदारी की
भले जरुरत हो या ना हो
पर्याबरण की चिंता में रात दिन एक करने बाले भी
दीवाली के दिन
आकाश को धुएं से भरने में भी पीछे नहीं रहे
घाटे में चलने बाली कुछ संस्थानों ने जैसे तैसे
अपने कर्मचारियों को बोनस दिया और
अपनी नाक बचाई
पोस्टमैन , माली , गैस सप्लायर ,धोबी ने
अपने अपने तरीकों से दिवाली की बधाई दी
मतलब जबरन धन बसूली की
छोटे बच्चों ने दीवाली के नाम पर
जमकर मस्ती की , पढ़ाई से मन चुराया
रक्त शर्करा से पीड़ित लोगों ने
दीवाली पर अपनी दबी इच्छा पूरी की
और
सबने
खूब दीवली मनाई
अपने अपने तरीके से
और
चैन की साँस ली
चलो हो गयी दीवाली

मदन मोहन सक्सेना

Language: Hindi
259 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
2321.पूर्णिका
2321.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
*प्रभु लेते अवतार, साधुता विजय-नाद फिर गाती है (हिंदी गजल/ गीतिका)*
*प्रभु लेते अवतार, साधुता विजय-नाद फिर गाती है (हिंदी गजल/ गीतिका)*
Ravi Prakash
हृदय की चोट थी नम आंखों से बह गई
हृदय की चोट थी नम आंखों से बह गई
Er. Sanjay Shrivastava
"त्रिशूल"
Dr. Kishan tandon kranti
पुनर्जन्म का साथ
पुनर्जन्म का साथ
Seema gupta,Alwar
मंत्र :या देवी सर्वभूतेषु सृष्टि रूपेण संस्थिता।
मंत्र :या देवी सर्वभूतेषु सृष्टि रूपेण संस्थिता।
Harminder Kaur
ज़िंदगी खुद ब खुद
ज़िंदगी खुद ब खुद
Dr fauzia Naseem shad
💐प्रेम कौतुक-174💐
💐प्रेम कौतुक-174💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
विनती
विनती
Saraswati Bajpai
कैसे करूँ मैं तुमसे प्यार
कैसे करूँ मैं तुमसे प्यार
gurudeenverma198
"आओ मिलकर दीप जलायें "
Chunnu Lal Gupta
मकर संक्रांति
मकर संक्रांति
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
चाँद सी चंचल चेहरा🙏
चाँद सी चंचल चेहरा🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
*अज्ञानी की कलम से हमारे बड़े भाई जी प्रश्नोत्तर शायद पसंद आ
*अज्ञानी की कलम से हमारे बड़े भाई जी प्रश्नोत्तर शायद पसंद आ
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
"अंतिम-सत्य..!"
Prabhudayal Raniwal
विषधर
विषधर
आनन्द मिश्र
सिर्फ़ वादे ही निभाने में गुज़र जाती है
सिर्फ़ वादे ही निभाने में गुज़र जाती है
अंसार एटवी
एक गुल्लक रख रखी है मैंने,अपने सिरहाने,बड़ी सी...
एक गुल्लक रख रखी है मैंने,अपने सिरहाने,बड़ी सी...
पूर्वार्थ
किरणों का कोई रंग नहीं होता
किरणों का कोई रंग नहीं होता
Atul "Krishn"
बिना मांगते ही खुदा से
बिना मांगते ही खुदा से
Shinde Poonam
पशुओं के दूध का मनुष्य द्वारा उपयोग अत्याचार है
पशुओं के दूध का मनुष्य द्वारा उपयोग अत्याचार है
Dr MusafiR BaithA
तहरीर
तहरीर
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Parents-just an alarm
Parents-just an alarm
नव लेखिका
अंबेडकर के नाम से चिढ़ क्यों?
अंबेडकर के नाम से चिढ़ क्यों?
Shekhar Chandra Mitra
सरस्वती वंदना-6
सरस्वती वंदना-6
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
"बात अपनो से कर लिया कीजे।
*Author प्रणय प्रभात*
तार वीणा का हृदय में
तार वीणा का हृदय में
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
कँवल कहिए
कँवल कहिए
Dr. Sunita Singh
मतदान
मतदान
Sanjay ' शून्य'
Loading...