Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Jan 2024 · 1 min read

चम-चम चमके चाँदनी

चम-चम चमके चाँदनी, चाहे चाँद चकोर।
चीख-चीख चातक चपल,चुप चंदा चितचोर।।

चेतक चौकन्ना चला, चारा चरने खेत।
चंपक चरवाहा चतुर, है चुपचाप सचेत।
चुप-चुप-चुप चुपचाप चुप,चमगादड़ चहुँ ओर।
चम-चम चमके चाँदनी, चाहे चाँद चकोर।

चुस-चुस चुस्की चाय की, चना चबेना फाँक।
चुपके-चुपके चोर-सा, चालाकी से झाँक।
चुन्नी चाचा चाव से,चाटे चिकन चटोर।
चम-चम चमके चाँदनी, चाहे चाँद चकोर।

चपा-चपा चरखा चला,चक-चक चलती चाक।
चरर-चरर चकरी चरर, चटका चक्र चटाक।
चुपड़-चुपड़ कर चाशनी,चुपरी चुपर चपोर।
चम-चम चमके चाँदनी, चाहे चाँद चकोर।

ये पुलकित बचपन खिले,महक-उठे संसार।
चम-चम-चम चमके चमक,काव्यांचल परिवार।
काव्य कलश छलके सदा,हो कविता का शोर।
चम-चम चमके चाँदनी, चाहे चाँद चकोर।
-वेधा सिंह

Language: Hindi
Tag: गीत
71 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
5 हाइकु
5 हाइकु
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
சிந்தனை
சிந்தனை
Shyam Sundar Subramanian
बोलो!... क्या मैं बोलूं...
बोलो!... क्या मैं बोलूं...
Santosh Soni
“तड़कता -फड़कता AMC CENTRE LUCKNOW का रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम” (संस्मरण 1973)
“तड़कता -फड़कता AMC CENTRE LUCKNOW का रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम” (संस्मरण 1973)
DrLakshman Jha Parimal
"देखना हो तो"
Dr. Kishan tandon kranti
प्यार करने वाले
प्यार करने वाले
Pratibha Pandey
गीत मौसम का
गीत मौसम का
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
🏞️प्रकृति 🏞️
🏞️प्रकृति 🏞️
Vandna thakur
देह अधूरी रूह बिन, औ सरिता बिन नीर ।
देह अधूरी रूह बिन, औ सरिता बिन नीर ।
Arvind trivedi
■ चाची 42प का उस्ताद।
■ चाची 42प का उस्ताद।
*Author प्रणय प्रभात*
"प्रीत की डोर”
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
Colours of heart,
Colours of heart,
DrChandan Medatwal
पाने की आशा करना यह एक बात है
पाने की आशा करना यह एक बात है
Ragini Kumari
मेरे ख्याल से जीवन से ऊब जाना भी अच्छी बात है,
मेरे ख्याल से जीवन से ऊब जाना भी अच्छी बात है,
पूर्वार्थ
विश्व रंगमंच दिवस पर....
विश्व रंगमंच दिवस पर....
डॉ.सीमा अग्रवाल
जिनके जानें से जाती थी जान भी मैंने उनका जाना भी देखा है अब
जिनके जानें से जाती थी जान भी मैंने उनका जाना भी देखा है अब
Vishvendra arya
बात ! कुछ ऐसी हुई
बात ! कुछ ऐसी हुई
अशोक शर्मा 'कटेठिया'
कौन नहीं है...?
कौन नहीं है...?
Srishty Bansal
प्राणवल्लभा 2
प्राणवल्लभा 2
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
मोहक हरियाली
मोहक हरियाली
Surya Barman
Dr arun kumar shastri
Dr arun kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
*वट का वृक्ष सदा से सात्विक,फल अद्भुत शुभ दाता (गीत)*
*वट का वृक्ष सदा से सात्विक,फल अद्भुत शुभ दाता (गीत)*
Ravi Prakash
चरित्रार्थ होगा काल जब, निःशब्द रह तू जायेगा।
चरित्रार्थ होगा काल जब, निःशब्द रह तू जायेगा।
Manisha Manjari
मेरी आंखों का
मेरी आंखों का
Dr fauzia Naseem shad
नियत
नियत
Shutisha Rajput
चॅंद्रयान
चॅंद्रयान
Paras Nath Jha
2553.पूर्णिका
2553.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
अपनी निगाह सौंप दे कुछ देर के लिए
अपनी निगाह सौंप दे कुछ देर के लिए
सिद्धार्थ गोरखपुरी
आँसू छलके आँख से,
आँसू छलके आँख से,
sushil sarna
त्रुटि ( गलती ) किसी परिस्थितिजन्य किया गया कृत्य भी हो सकता
त्रुटि ( गलती ) किसी परिस्थितिजन्य किया गया कृत्य भी हो सकता
Leena Anand
Loading...