Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Jul 2016 · 1 min read

चन्द अल्फाज

चन्द अल्फाजो को संवार लेता हूँ
याद तेरी यूं दिल में उतार लेता हूँ
************************
यादें तेरी बहुत है जीने के लिये
शब् ओ सहर यूं ही गुजार लेता हूँ
************************
कपिल कुमार
28/07/2016

Language: Hindi
271 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
वीर बालिका
वीर बालिका
लक्ष्मी सिंह
जिंदगी है कि जीने का सुरूर आया ही नहीं
जिंदगी है कि जीने का सुरूर आया ही नहीं
कवि दीपक बवेजा
गुजर जाती है उम्र, उम्र रिश्ते बनाने में
गुजर जाती है उम्र, उम्र रिश्ते बनाने में
Ram Krishan Rastogi
*प्राण-प्रतिष्ठा (दोहे)*
*प्राण-प्रतिष्ठा (दोहे)*
Ravi Prakash
हद्द - ए - आसमाँ की न पूछा करों,
हद्द - ए - आसमाँ की न पूछा करों,
manjula chauhan
झूठे से प्रेम नहीं,
झूठे से प्रेम नहीं,
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
यह कलयुग है
यह कलयुग है
gurudeenverma198
!! दर्द भरी ख़बरें !!
!! दर्द भरी ख़बरें !!
Chunnu Lal Gupta
नारी
नारी
Dr fauzia Naseem shad
कभी कभी भाग दौड इतना हो जाता है की बिस्तर पे गिरने के बाद कु
कभी कभी भाग दौड इतना हो जाता है की बिस्तर पे गिरने के बाद कु
पूर्वार्थ
जिंदगी न जाने किस राह में खडी हो गयीं
जिंदगी न जाने किस राह में खडी हो गयीं
Sonu sugandh
जिंदगी हमने जी कब,
जिंदगी हमने जी कब,
Umender kumar
योगी
योगी
Dr.Pratibha Prakash
इंसानियत
इंसानियत
साहित्य गौरव
Two Different Genders, Two Different Bodies And A Single Soul
Two Different Genders, Two Different Bodies And A Single Soul
Manisha Manjari
गुनहगार तू भी है...
गुनहगार तू भी है...
मनोज कर्ण
इन टिमटिमाते तारों का भी अपना एक वजूद होता है
इन टिमटिमाते तारों का भी अपना एक वजूद होता है
ruby kumari
प्रेम दिवानों  ❤️
प्रेम दिवानों ❤️
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
सरस्वती पूजा में प्रायश्चित यज्ञ उर्फ़ करेला नीम चढ़ा / MUSAFIR BAITHA
सरस्वती पूजा में प्रायश्चित यज्ञ उर्फ़ करेला नीम चढ़ा / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
☀️ओज़☀️
☀️ओज़☀️
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
ताटंक कुकुभ लावणी छंद और विधाएँ
ताटंक कुकुभ लावणी छंद और विधाएँ
Subhash Singhai
श्री राम के आदर्श
श्री राम के आदर्श
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
"मयकश बनके"
Dr. Kishan tandon kranti
प्रतीक्षा
प्रतीक्षा
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
एक गजल
एक गजल
umesh mehra
देर आए दुरुस्त आए...
देर आए दुरुस्त आए...
Harminder Kaur
मौत से किसकी यारी
मौत से किसकी यारी
Satish Srijan
हुस्न अगर बेवफा ना होता,
हुस्न अगर बेवफा ना होता,
Vishal babu (vishu)
रंगो ने दिलाई पहचान
रंगो ने दिलाई पहचान
Nasib Sabharwal
*बांहों की हिरासत का हकदार है समझा*
*बांहों की हिरासत का हकदार है समझा*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
Loading...