Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jul 8, 2016 · 1 min read

गुण क्या गाऊँ मैं कनहल के

पीले फूल लगें मखमल से
गुण क्या गाऊँ मैं कनहल के
भीनी भीनी खुशबू प्यारी
दिल झूमे जब जाऊँ क्यारी
तोडूँ फूल लटकर डाली
देख मुझे चिल्लाता माली
पवन चले हल्के हल्के
पीले फूल लगें मखमल से
माँ मेरी जब मन्दिर जाए
पीले पीले फूल चढ़ाये
उन फूलों से हार बनाते
खुशी खुशी त्यौहार मनाते
वे प्यारे दिन बचपन के
पीले फूल लगें मखमल से
कनहल की डाली झूली है
फूलों ने क्यारी छू ली है
धूप छाँह की सीढ़ी चढ़ते
हरे भरे पत्तों पर पड़ते
छीटें शुभ निर्मल जल के
पीले फूल लगें मखमल से
गुण क्या गाऊँ मैं कनहल के

174 Views
You may also like:
रेत समाधि : एक अध्ययन
Ravi Prakash
चोरी चोरी छुपके छुपके
gurudeenverma198
सुबह आंख लग गई
Ashwani Kumar Jaiswal
बेटी की मायका यात्रा
Ashwani Kumar Jaiswal
मायके की धूप रे
Rashmi Sanjay
ज़ाफ़रानी
Anoop Sonsi
कलियों को फूल बनते देखा है।
Taj Mohammad
मेरे खुदा की खुदाई।
Taj Mohammad
भूले बिसरे गीत
RAFI ARUN GAUTAM
✍️व्हाट्सअप यूनिवर्सिटी✍️
"अशांत" शेखर
सुन ज़िन्दगी!
Shailendra Aseem
मोहब्बत।
Taj Mohammad
सेमल के वृक्ष...!
मनोज कर्ण
नींद खो दी
Dr fauzia Naseem shad
कैसे समझाऊँ तुझे...
Sapna K S
राफेल विमान
jaswant Lakhara
रास रचिय्या श्रीधर गोपाला।
Taj Mohammad
हर रोज योग करो
Krishan Singh
दिल मुझसे लगाकर,औरों से लगाया न करो
Ram Krishan Rastogi
राम नवमी
Ram Krishan Rastogi
तेरे रोने की आहट उसको भी सोने नहीं देती होगी
Krishan Singh
दोहा में लय, समकल -विषमकल, दग्धाक्षर , जगण पर विचार...
Subhash Singhai
मतदान का दौर
Anamika Singh
क्या कहते हो हमसे।
Taj Mohammad
जो बीत गई।
Taj Mohammad
मेरे हाथो में सदा... तेरा हाथ हो..
Dr. Alpa H. Amin
दिल की ख्वाहिशें।
Taj Mohammad
उपहार की भेंट
Buddha Prakash
प्यार करके।
Taj Mohammad
✍️एक ख़ता✍️
"अशांत" शेखर
Loading...