Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Jan 2024 · 1 min read

ग़ज़ल

वो वफाओं का आईना होगा
प्यार से हमको देखता होगा
इम्तहाँ लेगा वो टकरा हमसे
कही पत्थर कहीं शीशा होगा
छिप न पायेगा शरम नजरों में
जब भी खोलेगा सामना होगा
टूट जाने दो रूठ जाने दो उसे
देख लेगें हम जो हादसा होगा
इक मुलाकात का हसीं मंजर
उसकी नजरों से झाँकता होगा
मैं मुरादों का ‘महज’ उसका शहर
वो तो मेरे घर का रास्ता होगा

Language: Hindi
1 Like · 84 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Mahendra Narayan
View all
You may also like:
उपहार
उपहार
Satish Srijan
हर विषम से विषम परिस्थिति में भी शांत रहना सबसे अच्छा हथियार
हर विषम से विषम परिस्थिति में भी शांत रहना सबसे अच्छा हथियार
Ankita Patel
बदलाव
बदलाव
Dr fauzia Naseem shad
Kabhi kabhi har baat se fark padhta hai mujhe
Kabhi kabhi har baat se fark padhta hai mujhe
Roshni Prajapati
तुम ही तो हो
तुम ही तो हो
Ashish Kumar
2985.*पूर्णिका*
2985.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मौन की सरहद
मौन की सरहद
Dr. Kishan tandon kranti
जब मैं परदेश जाऊं
जब मैं परदेश जाऊं
gurudeenverma198
Tum meri kalam ka lekh nahi ,
Tum meri kalam ka lekh nahi ,
Sakshi Tripathi
आंखों की भाषा
आंखों की भाषा
Mukesh Kumar Sonkar
साथ तेरा रहे साथ बन कर सदा
साथ तेरा रहे साथ बन कर सदा
डॉ. दीपक मेवाती
You never know when the prolixity of destiny can twirl your
You never know when the prolixity of destiny can twirl your
Sukoon
सोशल मीडिया पर एक दिन (हास्य-व्यंग्य)
सोशल मीडिया पर एक दिन (हास्य-व्यंग्य)
Ravi Prakash
■ आज की परिभाषा याद कर लें। प्रतियोगी परीक्षा में काम आएगी।
■ आज की परिभाषा याद कर लें। प्रतियोगी परीक्षा में काम आएगी।
*Author प्रणय प्रभात*
पुरुष की अभिलाषा स्त्री से
पुरुष की अभिलाषा स्त्री से
Anju ( Ojhal )
ग़ज़ल/नज़्म - मुझे दुश्मनों की गलियों में रहना पसन्द आता है
ग़ज़ल/नज़्म - मुझे दुश्मनों की गलियों में रहना पसन्द आता है
अनिल कुमार
क्या हो, अगर कोई साथी न हो?
क्या हो, अगर कोई साथी न हो?
Vansh Agarwal
नीचे तबके का मनुष्य , जागरूक , शिक्षित एवं सबसे महत्वपूर्ण ब
नीचे तबके का मनुष्य , जागरूक , शिक्षित एवं सबसे महत्वपूर्ण ब
Raju Gajbhiye
রাধা মানে ভালোবাসা
রাধা মানে ভালোবাসা
Arghyadeep Chakraborty
【30】*!* गैया मैया कृष्ण कन्हैया *!*
【30】*!* गैया मैया कृष्ण कन्हैया *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
प्रकृति हर पल आपको एक नई सीख दे रही है और आपकी कमियों और खूब
प्रकृति हर पल आपको एक नई सीख दे रही है और आपकी कमियों और खूब
Rj Anand Prajapati
****** मन का मीत  ******
****** मन का मीत ******
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
मोहब्बत कि बाते
मोहब्बत कि बाते
Rituraj shivem verma
कौतूहल एवं जिज्ञासा
कौतूहल एवं जिज्ञासा
Shyam Sundar Subramanian
खुशी ( Happiness)
खुशी ( Happiness)
Ashu Sharma
बेटी की बिदाई ✍️✍️
बेटी की बिदाई ✍️✍️
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
vah kaun hai?
vah kaun hai?
ASHISH KUMAR SINGH
ईश्वर से साक्षात्कार कराता है संगीत
ईश्वर से साक्षात्कार कराता है संगीत
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
बस यूं ही
बस यूं ही
MSW Sunil SainiCENA
रंगों  में   यूँ  प्रेम   को   ऐसे   डालो   यार ।
रंगों में यूँ प्रेम को ऐसे डालो यार ।
Vijay kumar Pandey
Loading...