Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Feb 2024 · 1 min read

ग़ज़ल सगीर

तुमसे कब बे खबर रहा हूं मैं।
सिर्फ रश्के सफर रहा हूं मैं।

मैं कहानी का इक्तीबास सही।
तज़किरे में मगर रहा हूं मैं।

सच बताऊं,जो मान जाओ तुम।
बिन तेरे खा़क भर रहा हूं मैं।

शुक्रिया तेरा,ज़र्रा नवाजी़ तेरी।
बिन तेरे आहें भर रहा हूं मैं।

माहे अंजुम है सारे गर्दिश में।
मंजि़लों से उतर रहा हूं मैं।

सब मुझे आज भूल बैठे हैं।
सबका पहले हुनर रहा हूं मैं।

तुमने पढ़कर भुला दिया लेकिन।
सफ़हे़ अव्वल खबर रहा हूं मैं।

मानता हूं मैं आज खंडहर हूं।
पहले हंसता सा घर रहा हूं मैं।

मैं हवादिस के साथ जीता हूं।
ना बुझे वह शरर रहा हूं मैं।

एक रब से ही सिर्फ डरता हूं।
इसलिए ही निडर रहा हूं मैं।

सगी़र आसान उसे लगता है।
बहुत मुश्किल मगर रहा हूं मैं।

84 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
এটি একটি সত্য
এটি একটি সত্য
Otteri Selvakumar
रुख़सारों की सुर्खियाँ,
रुख़सारों की सुर्खियाँ,
sushil sarna
2956.*पूर्णिका*
2956.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मेरा बचपन
मेरा बचपन
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
बहुत अंदर तक जला देती हैं वो शिकायतें,
बहुत अंदर तक जला देती हैं वो शिकायतें,
शेखर सिंह
Are you strong enough to cry?
Are you strong enough to cry?
पूर्वार्थ
उस पार की आबोहवां में जरासी मोहब्बत भर दे
उस पार की आबोहवां में जरासी मोहब्बत भर दे
'अशांत' शेखर
"क्रोधित चिड़िमार"(संस्मरण -फौजी दर्शन ) {AMC CENTRE LUCKNOW}
DrLakshman Jha Parimal
जिंदगी है कि जीने का सुरूर आया ही नहीं
जिंदगी है कि जीने का सुरूर आया ही नहीं
Deepak Baweja
" चर्चा चाय की "
Dr Meenu Poonia
हिन्दी हाइकु- शुभ दिपावली
हिन्दी हाइकु- शुभ दिपावली
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
प्रेमी-प्रेमिकाओं का बिछड़ना, कोई नई बात तो नहीं
प्रेमी-प्रेमिकाओं का बिछड़ना, कोई नई बात तो नहीं
The_dk_poetry
"काली सोच, काले कृत्य,
*Author प्रणय प्रभात*
मत जलाओ तुम दुबारा रक्त की चिंगारिया।
मत जलाओ तुम दुबारा रक्त की चिंगारिया।
Sanjay ' शून्य'
*आओ-आओ इस तरह, अद्भुत मधुर वसंत ( कुंडलिया )*
*आओ-आओ इस तरह, अद्भुत मधुर वसंत ( कुंडलिया )*
Ravi Prakash
*दायरे*
*दायरे*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
तारे हैं आसमां में हजारों हजार दोस्त।
तारे हैं आसमां में हजारों हजार दोस्त।
सत्य कुमार प्रेमी
कोई नहीं करता है अब बुराई मेरी
कोई नहीं करता है अब बुराई मेरी
gurudeenverma198
बेटी
बेटी
Vandna Thakur
इस दुनिया में किसी भी व्यक्ति को उसके अलावा कोई भी नहीं हरा
इस दुनिया में किसी भी व्यक्ति को उसके अलावा कोई भी नहीं हरा
Devesh Bharadwaj
ना हो अपनी धरती बेवा।
ना हो अपनी धरती बेवा।
Ashok Sharma
धन्य सूर्य मेवाड़ भूमि के
धन्य सूर्य मेवाड़ भूमि के
surenderpal vaidya
जिस दिन कविता से लोगों के,
जिस दिन कविता से लोगों के,
जगदीश शर्मा सहज
मिली पात्रता से अधिक, पचे नहीं सौगात।
मिली पात्रता से अधिक, पचे नहीं सौगात।
डॉ.सीमा अग्रवाल
"चलना और रुकना"
Dr. Kishan tandon kranti
तेरा मेरा साथ
तेरा मेरा साथ
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
आपस में अब द्वंद है, मिलते नहीं स्वभाव।
आपस में अब द्वंद है, मिलते नहीं स्वभाव।
Manoj Mahato
नारी शक्ति का सम्मान🙏🙏
नारी शक्ति का सम्मान🙏🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
बात खो गई
बात खो गई
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
ठण्डी राख़ - दीपक नीलपदम्
ठण्डी राख़ - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
Loading...