Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Aug 20, 2021 · 1 min read

“गलती किसकी ??”

प्रिया और राज एक रिश्ते मे होते है दोनो को एक दुसरे से बेहद प्यार होता है ये रिश्ता 7 साल पूरे कर चुका होता है और कुछ समय बाद राज बदल जाता है वो प्रिया को ignore करने लगता है उनमे झगडे होने लगते है… राज साफ साफ प्रिया को बोल देता है की अब उसको कोई लेना देना नही है और अब वो उस से बात ना करे …. अब प्रिया भी धीरे धीरे अपने आप को संभाल लेती हैं
अब प्रिया को जब भी कोई काम होता वो राज को कहती…उन दोनो के बीच सिर्फ काम को लेकर ही बाते होती
पर प्रिया खुश थी की कम से कम बाते तो होती है रिश्ता उसने तोडा भी नही था l
पर कुछ समय बाद राज हर काम को मना करता है ऐसे मे प्रिया उसको कहती है की मेरा ये काम कर दो नही तो मे ये कर दुंगी और राज उसकी इस बात को blackmailng का नाम दे देता है ..प्रिया ने 7 साल बर्बाद किये ज़िस पर उसको बस जाने दे ?
अब वो अपने किसी काम के लिये दूसरे को क्यो बोले ….??
अब सवाल ये है की क्या प्रिया गलत है ?? अपनी राय ज़रूर दे ….

190 Views
You may also like:
पुस्तक समीक्षा
Rashmi Sanjay
डॉ. भीमराव रामजी अम्बेडकर
N.ksahu0007@writer
इश्क़ में जूतियों का भी रहता है डर
आकाश महेशपुरी
ग्रीष्म ऋतु भाग ५
Vishnu Prasad 'panchotiya'
मानव छंद , विधान और विधाएं
Subhash Singhai
आईना पर चन्द अश'आर
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
कहने से
Rakesh Pathak Kathara
बहते अश्कों से पूंछो।
Taj Mohammad
भारतवर्ष स्वराष्ट्र पूर्ण भूमंडल का उजियारा है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
समंदर की चेतावनी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
आप कौन है
Sandeep Albela
अजब कहानी है।
Taj Mohammad
विश्व विजेता कपिल देव
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
💐💐प्रेम की राह पर-19💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मां-बाप
Taj Mohammad
खूबसूरत एहसास.......
Dr. Alpa H. Amin
मिल जाने की तमन्ना लिए हसरत हैं आरजू
Dr.sima
पिता
Manisha Manjari
*तजकिरातुल वाकियात* (पुस्तक समीक्षा )
Ravi Prakash
किस्मत ने जो कुछ दिया,करो उसे स्वीकार
Dr Archana Gupta
🍀🌺प्रेम की राह पर-44🍀🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मां
Anjana Jain
ना कर गुरुर जिंदगी पर इतना भी
VINOD KUMAR CHAUHAN
कहो अब और क्या चाहें
VINOD KUMAR CHAUHAN
सोने की दस अँगूठियाँ….
Piyush Goel
✍️घर में सोने को जगह नहीं है..?✍️
"अशांत" शेखर
सरकारी निजीकरण।
Taj Mohammad
भ्राता - भ्राता
Utsav Kumar Vats
हे कृष्णा पृथ्वी पर फिर से आओ ना।
Taj Mohammad
श्रद्धा और सबुरी ....,
Vikas Sharma'Shivaaya'
Loading...