Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 May 2024 · 1 min read

गर्म हवाएं चल रही, सूरज उगले आग।।

गर्म हवाएं चल रही, सूरज उगले आग।।
भारी संकट जीव पर,चलो लगाएं बाग।।
-मनोज

34 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
आज के बच्चों की बदलती दुनिया
आज के बच्चों की बदलती दुनिया
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
"पते पर"
Dr. Kishan tandon kranti
सत्य की खोज
सत्य की खोज
Rekha Drolia
मैं जीना सकूंगा कभी उनके बिन
मैं जीना सकूंगा कभी उनके बिन
कृष्णकांत गुर्जर
चंद अपनों की दुआओं का असर है ये ....
चंद अपनों की दुआओं का असर है ये ....
shabina. Naaz
दिल पर किसी का जोर नहीं होता,
दिल पर किसी का जोर नहीं होता,
Slok maurya "umang"
किसी भी देश या राज्य के मुख्या को सदैव जनहितकारी और जनकल्याण
किसी भी देश या राज्य के मुख्या को सदैव जनहितकारी और जनकल्याण
डॉ.एल. सी. जैदिया 'जैदि'
🙅मैं नहीं कहता...🙅
🙅मैं नहीं कहता...🙅
*प्रणय प्रभात*
পছন্দের ঘাটশিলা স্টেশন
পছন্দের ঘাটশিলা স্টেশন
Arghyadeep Chakraborty
बसंत पंचमी
बसंत पंचमी
Madhu Shah
अपने सपनों के लिए
अपने सपनों के लिए
हिमांशु Kulshrestha
मर्यादा, संघर्ष और ईमानदारी,
मर्यादा, संघर्ष और ईमानदारी,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
ज़िन्दगी में अच्छे लोगों की तलाश मत करो,
ज़िन्दगी में अच्छे लोगों की तलाश मत करो,
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
बात मेरे मन की
बात मेरे मन की
Sûrëkhâ
माँ
माँ
Dr Archana Gupta
"" *आओ गीता पढ़ें* ""
सुनीलानंद महंत
तेरे सहारे ही जीवन बिता लुंगा
तेरे सहारे ही जीवन बिता लुंगा
Keshav kishor Kumar
*मधु मालती*
*मधु मालती*
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
फूल खिले हैं डाली-डाली,
फूल खिले हैं डाली-डाली,
Vedha Singh
World Books Day
World Books Day
Tushar Jagawat
मन किसी ओर नहीं लगता है
मन किसी ओर नहीं लगता है
Shweta Soni
भिनसार हो गया
भिनसार हो गया
Satish Srijan
...........!
...........!
शेखर सिंह
15--🌸जानेवाले 🌸
15--🌸जानेवाले 🌸
Mahima shukla
जीवन में सुख-चैन के,
जीवन में सुख-चैन के,
sushil sarna
फितरत
फितरत
Surya Barman
*चुनावी कुंडलिया*
*चुनावी कुंडलिया*
Ravi Prakash
किसानों की दुर्दशा पर एक तेवरी-
किसानों की दुर्दशा पर एक तेवरी-
कवि रमेशराज
🚩एकांत महान
🚩एकांत महान
Pt. Brajesh Kumar Nayak
Loading...