Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Sep 2023 · 1 min read

******गणेश-चतुर्थी*******

******गणेश-चतुर्थी*******
***********************

शंभु दुलारे असुर निकंदन,
जाऊँ बलिहारी करूँ वंदन।

प्रथम पूजते देव गणेशा,
हाथ जोड़ करते अभिनंदन।

मोदक प्रिय विध्न विनाशक,
संकट मोचक गौरी नन्दन।

जन की अर्जी मर्जी हो तेरी,
कृपा हम पर होगी नृपनंदन।

गणपति वाहन मूषक राजा,
बुद्धि विधायक हैं दुखभंजन।

रिद्धि सिद्धि बुद्धि के प्रदाता,
सुख समृद्धि हो काया कुंदन।

गणेश चतुर्थी गजानन पधारे,
जन मन गण का दूर क्रंदन।

मनसीरत की पूर्ण आशा,
पार्वती तनय मस्तक चन्दन।
***********************
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
खेडी राओ वाली (कैथल)

180 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*आओ बच्चों सीख सिखाऊँ*
*आओ बच्चों सीख सिखाऊँ*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
Love whole heartedly
Love whole heartedly
Dhriti Mishra
मंजिल तक का संघर्ष
मंजिल तक का संघर्ष
Praveen Sain
लाल बचा लो इसे जरा👏
लाल बचा लो इसे जरा👏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
सत्य को सूली
सत्य को सूली
Shekhar Chandra Mitra
তোমার চরণে ঠাঁই দাও আমায় আলতা করে
তোমার চরণে ঠাঁই দাও আমায় আলতা করে
Arghyadeep Chakraborty
ऐनक
ऐनक
Buddha Prakash
मुश्किल में जो देख किसी को, बनता उसकी ढाल।
मुश्किल में जो देख किसी को, बनता उसकी ढाल।
डॉ.सीमा अग्रवाल
आँसू
आँसू
Satish Srijan
फिर कभी तुमको बुलाऊं
फिर कभी तुमको बुलाऊं
Shivkumar Bilagrami
3215.*पूर्णिका*
3215.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
पीताम्बरी आभा
पीताम्बरी आभा
manisha
"खाली हाथ"
Dr. Kishan tandon kranti
जीवन का किसी रूप में
जीवन का किसी रूप में
Dr fauzia Naseem shad
असली परवाह
असली परवाह
*Author प्रणय प्रभात*
"संवाद "
DrLakshman Jha Parimal
सुस्ता लीजिये थोड़ा
सुस्ता लीजिये थोड़ा
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
मां
मां
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
मां
मां
Manu Vashistha
💐प्रेम कौतुक-409💐
💐प्रेम कौतुक-409💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
इस दौर में सुनना ही गुनाह है सरकार।
इस दौर में सुनना ही गुनाह है सरकार।
Dr. ADITYA BHARTI
Lines of day
Lines of day
Sampada
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
इल्म
इल्म
Utkarsh Dubey “Kokil”
जिंदगी में संतुलन खुद की कमियों को समझने से बना रहता है,
जिंदगी में संतुलन खुद की कमियों को समझने से बना रहता है,
Seema gupta,Alwar
ठहर गया
ठहर गया
sushil sarna
अयोध्या
अयोध्या
सत्यम प्रकाश 'ऋतुपर्ण'
किताबों से ज्ञान मिलता है
किताबों से ज्ञान मिलता है
Bhupendra Rawat
रमेशराज की वर्णिक एवं लघु छंदों में 16 तेवरियाँ
रमेशराज की वर्णिक एवं लघु छंदों में 16 तेवरियाँ
कवि रमेशराज
नया जमाना आ गया, रही सास कब खास(कुंडलिया)
नया जमाना आ गया, रही सास कब खास(कुंडलिया)
Ravi Prakash
Loading...