Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Jun 2023 · 1 min read

गंदे-मैले वस्त्र से, मानव करता शर्म

गंदे-मैले वस्त्र से, मानव करता शर्म
गंदी-मैली सोच को, क्यों समझे सत्कर्म
महावीर उत्तरांचली

2 Likes · 303 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
View all
You may also like:
ऐसा इजहार करू
ऐसा इजहार करू
Basant Bhagawan Roy
जीवन में कोई भी युद्ध अकेले होकर नहीं लड़ा जा सकता। भगवान राम
जीवन में कोई भी युद्ध अकेले होकर नहीं लड़ा जा सकता। भगवान राम
Dr Tabassum Jahan
ज़िन्दगी में सभी के कई राज़ हैं ।
ज़िन्दगी में सभी के कई राज़ हैं ।
Arvind trivedi
2499.पूर्णिका
2499.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
सुनो
सुनो
पूर्वार्थ
जो लोग अपनी जिंदगी से संतुष्ट होते हैं वे सुकून भरी जिंदगी ज
जो लोग अपनी जिंदगी से संतुष्ट होते हैं वे सुकून भरी जिंदगी ज
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
माँ
माँ
Arvina
आज के युग में कल की बात
आज के युग में कल की बात
Rituraj shivem verma
तू ही मेरी लाड़ली
तू ही मेरी लाड़ली
gurudeenverma198
चंद अशआर -ग़ज़ल
चंद अशआर -ग़ज़ल
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
ना रहीम मानता हूँ ना राम मानता हूँ
ना रहीम मानता हूँ ना राम मानता हूँ
VINOD CHAUHAN
गजब है उनकी सादगी
गजब है उनकी सादगी
sushil sarna
*Nabi* के नवासे की सहादत पर
*Nabi* के नवासे की सहादत पर
Shakil Alam
वेलेंटाइन डे रिप्रोडक्शन की एक प्रेक्टिकल क्लास है।
वेलेंटाइन डे रिप्रोडक्शन की एक प्रेक्टिकल क्लास है।
Rj Anand Prajapati
चंचल मन
चंचल मन
उमेश बैरवा
"सुप्रभात"
Yogendra Chaturwedi
कहीं भूल मुझसे न हो जो गई है।
कहीं भूल मुझसे न हो जो गई है।
surenderpal vaidya
घर वापसी
घर वापसी
Aman Sinha
प्यासी कली
प्यासी कली
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
सूरज का ताप
सूरज का ताप
Namita Gupta
जो हुआ वो गुज़रा कल था
जो हुआ वो गुज़रा कल था
Atul "Krishn"
तुझको को खो कर मैंने खुद को पा लिया है।
तुझको को खो कर मैंने खुद को पा लिया है।
Vishvendra arya
Empty pocket
Empty pocket
Bidyadhar Mantry
*पुरानी वाली अलमारी (लघुकथा)*
*पुरानी वाली अलमारी (लघुकथा)*
Ravi Prakash
अब नये साल में
अब नये साल में
डॉ. शिव लहरी
तुम
तुम
Sangeeta Beniwal
वक्त
वक्त
Shyam Sundar Subramanian
🙅ओनली पूछिंग🙅
🙅ओनली पूछिंग🙅
*Author प्रणय प्रभात*
देश हमरा  श्रेष्ठ जगत में ,सबका है सम्मान यहाँ,
देश हमरा श्रेष्ठ जगत में ,सबका है सम्मान यहाँ,
DrLakshman Jha Parimal
राहत का गुरु योग / MUSAFIR BAITHA
राहत का गुरु योग / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
Loading...