Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Jun 2016 · 1 min read

गंगा-स्नान

गंगा-तट पर जाकर भी ना,
है पापों का भान l
कौन कराएगा प्यारे,
गंगा को स्नान l
गंगा तट पर जाकर भी…l

करके पावन जल को मैला,
डुबकी मारें ‘नंगे’l
इधर बहाएें कूड़ा-करकट,
उधर जपें ‘जय गंगे’ l
भरेगा विष भागीरथी में,
करेगा विष का पान l
कौन कराएगा प्यारे,
गंगा को स्नान l
गंगा तट पर जाकर भी…l

गंगा रो-रो कर अपने,
बच्चों से है यह कहती l
“कलि-काल में आकर मैं,
असुरों की कै़द में रहती” l
इसकी कल-कल से ही क़ायम,
है यह हिन्दोस्तान l
कौन कपाएगा प्यारे,
गंगा को स्नान l
गंगा-तट पर जाकर भी…l

दुनियां जब हँसकर कहती है-
“प्रखर” की हिल गई चूलें” l
मैं भी हँसकर कह देता हूँ –
नहीं कभी हम भूलें l
गंगा होगी निर्मल तो,
होगा नवयुग सन्धान l
कौन कराएगा प्यारे,
गंगा को स्नान l
गंगा-तट पर जाकर भी न…l

(सर्वाधिकार सुरक्षित)

– राजीव ‘प्रखर’
मुरादाबाद (उ. प्र.)
मो. 8941912642

Language: Hindi
Tag: गीत
1 Comment · 327 Views
You may also like:
*नकली छत अच्छी लगती है(गीतिका)*
Ravi Prakash
✍️हुए बेखबर ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
अपने पथ आगे बढ़े
Vishnu Prasad 'panchotiya'
"DIDN'T LEARN ANYTHING IF WE DON'T PRACTICE IT "
DrLakshman Jha Parimal
एक बर्बाद शायर
Shekhar Chandra Mitra
सांसें थम सी गई है, जब से तु म हो...
Chaurasia Kundan
आह! भूख और गरीबी
Dr fauzia Naseem shad
भेड़ चाल में फंसी माँ
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
कर लो कोशिशें।
Taj Mohammad
माँ आई
Kavita Chouhan
यादों में तेरे रहना ख्वाबों में खो जाना
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
✍️प्रेम की राह पर-72✍️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
नशा
shabina. Naaz
दौलत बड़ी या मां का दुलार !
ओनिका सेतिया 'अनु '
मिलना , क्यों जरूरी है ?
Rakesh Bahanwal
भारत बनाम (VS) पाकिस्तान
Dr.sima
मांडवी
Madhu Sethi
परिस्थितियां
दशरथ रांकावत 'शक्ति'
मुक्तक
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
मय है मीना है साकी नहीं है।
सत्य कुमार प्रेमी
कृष्ण चतुर्थी भाद्रपद, है गणेशावतार
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
तपों की बारिश (समसामयिक नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
✍️दफ़न हो गया✍️
'अशांत' शेखर
समय ।
Kanchan sarda Malu
मेरी लेखनी
Anamika Singh
आनंद अपरम्पार मिला
श्री रमण 'श्रीपद्'
स्त्री और नदी का स्वच्छन्द विचरण घातक और विनाशकारी
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
पहला प्यार
Dr. Meenakshi Sharma
नाम लेकर भुला रहा है
Vindhya Prakash Mishra
बाट जोहती इक दासी
Rashmi Sanjay
Loading...