Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Nov 2023 · 1 min read

खेल और भावना

जैसा की सभी क्रिकेट प्रेमी जानते हैं,
भारत की क्रिकेट टीम एकजुट होकर
अच्छी खेल भावना का परिचय देते हुए
और अपनी झोली में जीत दर्ज की,
न खिलाडियों को,
न ही शायद दर्शक-गण
जो खेल का लुत्फ़ उठा रहे थे,
दर्शक लोगों की हौसले अफजाई ने खिलाड़ियों की रगो में जोश भरने का काम किया,
.
देश का नाम रोशन करने के लिए
कोई कुछ भी करे,
वे भारत और भारतीयता के लिए समर्पित योगदान होता है,
ऐसे क्षण में भी कुछ लोग,
:- हिंदू मुस्लिम सिक्ख ईसाई किये बैगर
उन बुद्धिजीवी वर्ग के लोगों का खाना हज़्म नहीं होता,,
भारत देश हिंदू राष्ट्र तबही कहलवाने का हकदार है ।
जब तक यहां सभी धर्म के लोग रह रहे हैं,
और संगठित है,,
धर्म और राजनीतिक बहकावे में न आये,
हम सब भारतीय प्रथमतः है,
उसके बाद कुछ ओर ….।

Language: Hindi
1 Like · 1 Comment · 288 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Mahender Singh Manu
View all
You may also like:
मैं तुलसी तेरे आँगन की
मैं तुलसी तेरे आँगन की
Shashi kala vyas
किस किस्से का जिक्र
किस किस्से का जिक्र
Bodhisatva kastooriya
मुस्कुराते हुए सब बता दो।
मुस्कुराते हुए सब बता दो।
surenderpal vaidya
मेरे जग्गू दादा
मेरे जग्गू दादा
Baishali Dutta
मन के ब्यथा जिनगी से
मन के ब्यथा जिनगी से
Ram Babu Mandal
कदीमी याद
कदीमी याद
Sangeeta Beniwal
कैसा दौर आ गया है ज़ालिम इस सरकार में।
कैसा दौर आ गया है ज़ालिम इस सरकार में।
Dr. ADITYA BHARTI
आस्था और भक्ति की तुलना बेकार है ।
आस्था और भक्ति की तुलना बेकार है ।
Seema Verma
💐💐मथुरा का छोरा,मेरी ले ले राधे राधे💐💐
💐💐मथुरा का छोरा,मेरी ले ले राधे राधे💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
चंद एहसासात
चंद एहसासात
Shyam Sundar Subramanian
सच सोच ऊंची उड़ान की हो
सच सोच ऊंची उड़ान की हो
Neeraj Agarwal
नहीं टूटे कभी जो मुश्किलों से
नहीं टूटे कभी जो मुश्किलों से
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
है वही, बस गुमराह हो गया है…
है वही, बस गुमराह हो गया है…
Anand Kumar
नवरात्रि के इस पवित्र त्योहार में,
नवरात्रि के इस पवित्र त्योहार में,
Sahil Ahmad
शायरी
शायरी
Shyamsingh Lodhi (Tejpuriya)
देखा है।
देखा है।
Shriyansh Gupta
■ प्रभात वन्दन
■ प्रभात वन्दन
*Author प्रणय प्रभात*
माँ भारती का अंश वंश
माँ भारती का अंश वंश
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
मजबूरी तो नहीं
मजबूरी तो नहीं
Mahesh Tiwari 'Ayan'
साधना की मन सुहानी भोर से
साधना की मन सुहानी भोर से
OM PRAKASH MEENA
नाजुक
नाजुक
जय लगन कुमार हैप्पी
मैं राहुल गांधी बोल रहा हूं!
मैं राहुल गांधी बोल रहा हूं!
Shekhar Chandra Mitra
Herons
Herons
Buddha Prakash
*** एक दीप हर रोज रोज जले....!!! ***
*** एक दीप हर रोज रोज जले....!!! ***
VEDANTA PATEL
कविता
कविता
Shyam Pandey
"हास्य व्यंग्य"
Radhakishan R. Mundhra
2767. *पूर्णिका*
2767. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
*दादा जी के टूटे सारे दॉंत, पोपला मुख है (गीत)*
*दादा जी के टूटे सारे दॉंत, पोपला मुख है (गीत)*
Ravi Prakash
वृद्धाश्रम
वृद्धाश्रम
मनोज कर्ण
जेठ का महीना
जेठ का महीना
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
Loading...