Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Jun 2018 · 1 min read

खुशनसीब

चाँद है खुशनसीब
क्युकी उसके पास चांदनी है

माली है खुशनसीब
क्युकी उसके पास फूल है

पेड़ है खुशनसीब
क्युकी उसके ऊपर फ़ल है

अमीर है खुशनसीब
क्युकी उसके पास पैसा है

पिता है खुशनसीब
क्युकी उसके पास बेटी है

छात्र है खुशनसीब
क्युकी उसके पास अच्छा शिक्षक है

इसी तरह हम है खुशनसीब
क्युकी हमारे पास आपके जैसे अच्छे माँ और पिताजी है

Language: Hindi
333 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हमारी काबिलियत को वो तय करते हैं,
हमारी काबिलियत को वो तय करते हैं,
Dr. Man Mohan Krishna
गांव जीवन का मूल आधार
गांव जीवन का मूल आधार
Vivek Sharma Visha
वसन्त का स्वागत है vasant kaa swagat hai
वसन्त का स्वागत है vasant kaa swagat hai
Mohan Pandey
तुमने मुझको कुछ ना समझा
तुमने मुझको कुछ ना समझा
Suryakant Dwivedi
■ मीठा-मीठा गप्प, कड़वा-कड़वा थू।
■ मीठा-मीठा गप्प, कड़वा-कड़वा थू।
*प्रणय प्रभात*
नयी नवेली
नयी नवेली
Ritu Asooja
वो तेरी पहली नज़र
वो तेरी पहली नज़र
Yash Tanha Shayar Hu
🍂🍂🍂🍂*अपना गुरुकुल*🍂🍂🍂🍂
🍂🍂🍂🍂*अपना गुरुकुल*🍂🍂🍂🍂
Dr. Vaishali Verma
हिंदुस्तान जिंदाबाद
हिंदुस्तान जिंदाबाद
Mahmood Alam
*तपसी वेश सिया का पाया (कुछ चौपाइयॉं)*
*तपसी वेश सिया का पाया (कुछ चौपाइयॉं)*
Ravi Prakash
चलो चलाए रेल।
चलो चलाए रेल।
Vedha Singh
चलते-फिरते लिखी गई है,ग़ज़ल
चलते-फिरते लिखी गई है,ग़ज़ल
Shweta Soni
वो छोटी सी खिड़की- अमूल्य रतन
वो छोटी सी खिड़की- अमूल्य रतन
Amulyaa Ratan
महसूस करो दिल से
महसूस करो दिल से
Dr fauzia Naseem shad
अपने जीवन के प्रति आप जैसी धारणा रखते हैं,बदले में आपका जीवन
अपने जीवन के प्रति आप जैसी धारणा रखते हैं,बदले में आपका जीवन
Paras Nath Jha
अब तुझे रोने न दूँगा।
अब तुझे रोने न दूँगा।
Anil Mishra Prahari
दोहा छन्द
दोहा छन्द
नाथ सोनांचली
खामोशी मेरी मैं गुन,गुनाना चाहता हूं
खामोशी मेरी मैं गुन,गुनाना चाहता हूं
पूर्वार्थ
आज रविवार है -व्यंग रचना
आज रविवार है -व्यंग रचना
Dr Mukesh 'Aseemit'
बुंदेली दोहा-अनमने
बुंदेली दोहा-अनमने
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
बूढ़ा बापू
बूढ़ा बापू
Madhu Shah
देशभक्ति
देशभक्ति
पंकज कुमार कर्ण
हमारी राष्ट्रभाषा हिन्दी
हमारी राष्ट्रभाषा हिन्दी
Mukesh Kumar Sonkar
★Dr.MS Swaminathan ★
★Dr.MS Swaminathan ★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
"पहचान"
Dr. Kishan tandon kranti
इंडिया ने परचम लहराया दुनियां में बेकार गया।
इंडिया ने परचम लहराया दुनियां में बेकार गया।
सत्य कुमार प्रेमी
देश का वामपंथ
देश का वामपंथ
विजय कुमार अग्रवाल
मिलना तो होगा नही अब ताउम्र
मिलना तो होगा नही अब ताउम्र
Dr Manju Saini
The life of an ambivert is the toughest. You know why? I'll
The life of an ambivert is the toughest. You know why? I'll
Chahat
बस्ता
बस्ता
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
Loading...